Last Update On : 21 08 2018 11:39:26 AM
फाइल फोटो

बच्ची का बलात्कार करने के बाद हत्या करने वाला आरोपी बंटी लाल है टिहरी का, लंबे समय से कर रहा था डुंडा ब्लॉक के इस गांव और आसपास के गांवों में मजदूरी….

देहरादून, जनज्वार। उत्तरकाशी में 12 साल की बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी निर्ममता से हत्या के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। पहले कहा जा रहा था कि कुछ बाहरी मजदूरों ने बच्ची को अगवा कर उसके साथ गैंगरेप किया और फिर निर्मम तरीके से हत्या कर दी।

मगर शुरुआती जांच के बाद बच्ची के साथ गैंगरेप नहीं रेप की पुष्टि हो चुकी है। शुरुआत में शक के आधार पर पुलिस ने लगभग 20 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। इस मामले में वहां मजदूरी करने वाले कई बिहारी मजदूरों को भी हिरासत में लिया गया था, मगर पीड़िता की बहन के बयान ने इस पूरे केस को ही बदलकर रख दिया है। हालांकि पुलिस भी यह जांच करने में जुटी थी कि अगर बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार नहीं हुआ है तो उसकी हत्या और रेप के लिए कोई एक ही इंसान जिम्मेदार होगा।

पुलिस ने बच्ची के बलात्कार के बाद हत्या के लिए जिसे पकड़ा है उसका नाम बंटी लाल है, जो टिहरी का निवासी बताया जा रहा है। बंटी लाल लंबे समय से गांव और आसपास में ही मज़दूरी करता था।

गौरतलब है कि उत्तरकाशी के डुंडा ब्लॉक के एक गांव में 12 वर्षीय बच्ची की 17 अगस्त की देर रात बलात्कार के बाद हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया था। 12 वर्षीय किशोरी जब उस दिन अपने माता-पिता के साथ बरामदे में सोई हुई थी, तो उसे वहां से अगवा कर रेप करने के बाद उसकी हत्या कर दी गई। रात करीब तीन बजे जब उसकी मां की नींद खुली तो किशोरी बिस्तर पर नहीं मिली। इस पर उन्होंने खोजबीन शुरू की। 18 अगस्त की सुबह लगभग साढ़े छह बजे गांव के निकट मोटर पुल पर बच्ची का शव बरामद किया गया।

पुलिस ने इस मामले में शक के आधार पर बिहार मूल के पांच मजदूरों के अलावा कुछ स्थानीय लोगों को हिरासत में लिया था, मगर कल 20 अगस्त को पत्रकारों के सामने मृतका की 17 वर्षीय बड़ी बहन ने जो सनसनीखेज खुलासा किया, उसने इस मामले का रुख ही बदल दिया है।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मृतका की बहन ने बताया कि गांव में ही ग्राम प्रधान का खच्चर चलाने और मजदूरी करने वाला एक स्थानीय युवक लंबे समय से उसे परेशान कर रहा था। घटना वाले दिन उस युवक ने उसे फोन करके रात को उठा ले जाने और साथ नहीं चलने पर उसकी गर्दन उड़ा देने की धमकी दी थी। धमकी भरे फोन के बाद जब मृतका की बहन डर के मारे अपने ननिहाल चली गई, तो अगले ही दिन उसकी छोटी बहन की बलात्कार के बाद हत्या करने का मामला सामने आ गया।

बलात्कार के बाद मार दी गई बच्ची की बड़ी बहन की मानें तो उसे तंग करने वाले युवक ने उसकी छोटी बहन की हत्या की है। किशोरी के बयान और और जांच दल के इनपुट के आधार पर पुलिस ने बंटी लाल को पड़ोस के गांव से अपनी हिरासत में ले लिया है। जब पुलिस ने उसे पकड़ा तब वह नशे में धुत्त था।

उत्तरकाशी में बच्ची के साथ हुए इस जघन्य कांड के बाद स्थानीय लोगों ने वहां काम कर रहे बिहारी मजदूरों को अपना निशाना बनाना शुरू कर दिया था। कई बिहारी मजदूरों को इस घटना के बाद स्थानीय लोगों के कोप का भाजन बनना पड़ा। लोग पहाड़ से गैर पहाड़ियों को भगा रहे हैं। सोशल मीडिया पर गैर पहाड़ियों को पहाड़ से भगाने के लिए तरह—तरह के मैसेज और वीडियो वायरल किए जा रहे हैं।

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एक वीडियो में तो स्थानीय लोग बिहार मूल के एक मजदूर को इतना ज्यादा पीटते हैं कि वह चलने—फिरने में तक असमर्थ दिख रहा है।