Last Update On : 28 06 2018 05:24:12 PM

मरने वालों में दो पायलट, दो एयरक्राफ्ट इंजीनियर और एक रा​हगीर शामिल, आबादी वाले इलाके में गिरा होता प्लेन तो सैकड़ों लोगों की चली जाती जान

लोग सराह रहे पायलट को कि मरते—मरते भी बचा गया सैकड़ों की जान

दिल्ली। मुंबई में एक चार्टर्ड प्लेन दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर आ रही है। शुरुआती छानबीन के बाद पता चला है कि यह प्लेन उत्तर प्रदेश सरकार का था जो मुंबई के यूवाई एविएशन को बेच दिया गया था।

दुर्घटना मुंबई के घाटकोपर में सर्वोदय अस्पताल के पास हुई है। हादसे में 5 लोगों की जान जाने की खबर है, जिनमें चार प्लेन में मौजूद शख्स जबकि एक राह चलता आदमी शामिल है।

​खबरों के मुताबिक ये चार्टर्ड प्लेन जुहू एयरपोर्ट से टेस्टिंग के लिए उड़ा था, तभी क्रैश हो गया। क्रैश होने के बाद आग की लपटों में घिरा चार्टर्ड प्लेन एक निर्माणाधीन इमारत से टकरा गया। इस हादसे के बाद घाटकोपर इलाके की घेराबंदी कर दी गई है। मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियां और एंबुलेंस पहुंच राहत और बचाव का काम कर रही हैं।

एएनआई में प्रकाशित खबर के मुताबिक घटना में दो पायलट, दो एयरक्राफ्ट इंजीनियर और एक राहगीर की मौत हुई है। पायलट का नाम प्रदीप राजपूत बताया जा रहा है। अभी तक प्लेन क्रैश होने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

शुरुआती छानबीन के बाद पुलिस ने मीडिया को जानकारी दी कि यह छोटा विमान दोपहर तकरीबन डेढ़ बजे मुंबई में घाटकोपर इलाके के सर्वोदय नगर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दमकल की चार गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैं और एंबुलेंस भी। बचाव कार्य जारी है।

घटना के प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक प्लेन क्रैश होने के बाद लोगों ने एक शख्‍स को बाहर निकलते देखा। उस आदमी को आग की लपटों ने बुरी तरह अपनी चपेट में ले रखा था। वह जलता हुआ प्लेन से बाहर निकला, जिसके बाद इलाके में अफरा-तफरी मच गयी।

आसपास रहने वाले लोग कहते हैं हमने चार्टर्ड प्लेन को गिरते हुए देखा था। हादसे के वक्त तेज धमाका हुआ, जिससे पूरा इलाका सहम गया। हादसे के बाद पूरे इलाके में धुंआ और आग फैल चुकी थी।

पुलिस के मुताबिक दुर्घटना को देखते हुए लगता है कि पायलट को अनहोनी का आभास हो गया था, तभी उसने निर्माणाधीन बिल्डिंग के पास प्लैन क्रेश होने दिया। अगर यही प्लेन किसी घनी आबादी वाले इलाके में गिरता तो सैकड़ों लोगों की जा जा सकती थी।