कुछ दिन पहले प्रकाश राज ने कहा था मोदी सरकार के खिलाफ बोलने के कारण बॉलीवुड निर्माताओं ने मुझे फिल्म में लेना कर दिया है बंद…

जनज्वार। अपनी सत्ता विरोधी तल्ख टिप्पणियों के लिए ख्यात अभिनेता प्रकाश राज ने नए साल के मौके पर राजनीति में आने का ऐलान किया है। प्रकाश राज ने ट्वीट कर कहा कि ‘सभी को नए साल की शुभकामनाएं, एक नई शुरुआत, ज्यादा जिम्मेदारी। आने वाले लोकसभा चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार के रूप उतरूंगा। सीट की जानकारी जल्द ही दे दी जाएगी। अबकी बार जनता की सरकार।’

गौरतलब है कि प्रकाश राज अकसर राजनीतिक टिप्पणियां करते रहते हैं, जो जनता के हक—हकूकों के पक्ष में होती हैं। देश के अन्य मुद्दों पर वे अपनी बेबाक राय रखते रहे हैं। खासकर असहिष्णुता को लेकर उनकी टिप्पणियां चर्चा में रही हैं, और इन टिप्पणियों को लेकर वह भाजपा के निशाने पर भी रहते हैं। उनका बयान, ‘आलोचक कहते हैं कि मैं हिन्दू विरोधी हूं जबकि मैं कहता हूं कि मैं मोदी, शाह और हेगड़े विरोधी हूं।’ पर मोदी समर्थकों ने सोशल मीडिया पर उन्हें खूब ट्रोल किया था।

प्रकाश राज के चुनाव लड़ने के फैसले का समर्थन करते हुए वरिष्ठ वकील और स्वराज अभियान के अध्यक्ष कहते हैं, ‘जो लोग चाहते हैं कि संसद में अच्छे लोग पहुंचे, उन सभी को प्रकाश राज का लोकसभा चुनावों में स्वागत करना चाहिए और उनकी उम्मीदवारी को अपना समर्थन देना चाहिए। संसद में देशभर से कम से कम 10—15 ऐसे निर्दलीय लोग पहुंचे जो जनता के सवालों को उठाने के साथ—साथ प्रासंगिक मुद्दों को उठाने से भी न चूकते हों।’

कुछ दिन पहले हुए चुनावों में 5 राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनाव के नतीजों को लेकर प्रकाश राज ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा था। खासकर मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बुरी तरह हारी बीजेपी पर ट्वीट के जरिये उन्होंने तंज कसा था, ‘सिटिजंस मन की बात… चुनाव दर चुनाव… बाय बाय बीजेपी… वजह आप सब जानते ही हैं. या फिर आप कब सोचेंगे…वजह के साथ…ऐसे ही पूछा।’

गौरतलब है कि प्रकाश राज साउथ सिनेमा के साथ ही बॉलीवुड में भी एक बड़ा नाम है। वे ख्यात फिल्मों ‘सिंघम’, ‘वॉन्टेड’ के अलावा कई सुपरहिट फिल्मों में दमदार अभिनय कर चुके हैं।

प्रकाश राज ने कुछ समय पहले बयान दिया था कि ‘मोदी सरकार के खिलाफ बोलने के कारण बॉलीवुड निर्माताओं ने मुझे फिल्म में लेना बंद कर दिया है।’ प्रकाश राज पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए भी आवाज बुलंद कर चुके हैं।