Last Update On : 28 01 2018 12:28:00 PM

मुजफ्फरनगर दंगा भड़काकर वर्ष 2014 में देश की सत्ता पर काबिज हुई भाजपा के मुंह में मानो दंगों का खून लग गया हो जो फिर उसने 2019 की तैयारी उसी राह पर शुरू कर दी है

गणतंत्र दिवस के दिन भगवा झंडा लहराने वाले एबीवीपी और वीएचपी के गुंडों को मिल रहा है सत्ता से सह, इन दोनों संगठनों को खुद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मानते हैं जनता का सच्चा संगठन

जनज्वार, एटा। बाबरी मस्जिद को ढाहने का श्रेय लेने वाले पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह बेटे राजवीर सिंह ने दंगों की राजनीति की पंरपरा को कायम रखा है और 26 जनवरी को फसाद की जगह बने कासगंज में जाकर बदला लेने पर उतारू भीड़ को ऐसी सांत्वना दी है कि दंगा और भड़के।

26 जनवरी को हुए फसाद के बाद एटा सांसद राजवीर सिंह एबीवीपी और वीएचपी समर्थकों को सांत्वना देने पहुंचे थे। लेकिन आप वीडियो में देख सकते हैं कि उनके सांत्वना की भाषा जनता को बांटने वाली है। वह बात—बात में हमारे लोग, हमारा आदमी की बात करते हैं। उनके इस भाषण के बाद कल 27 जनवरी को दुबारा दंगा भड़का और 50 से अधिक दुकानें फूंक दी गयीं।

जनज्वार को मिले वीडियो में एटा सांसद राजवीर सिंह साफतौर पर बोल रहे हैं कि जो यह घटना घटी है, उसे किसी भी कीमत पर माफ नहीं किया जा सकता। उनके ऐसा बोलते ही दंगाई मानसिकता वाली भीड़ की तालियों से माहौल बम—बम हो जाता है।

उसके बाद राजवीर सिंह आगे कहते हैं, ‘जितना आक्रोश कासगंज में आज मैंने देखा है उतना आक्रोश मैंने पहले कभी देखा भी नहीं है।’

इसे पढ़ें : कासगंज में दोबारा भड़की हिंसा, कई दुकानों और बसों को लगाई आग

राजवीर सिंह यहां कासगंज के सांसद होने की बजाय वह हिंदुओं के नेता दिखते हैं। वह भीड़ को संबोधित करते हुए बोलते हैं, ‘इस घटना में हमारे लोगों की कोर्इ् कमी नहीं है। ये झगड़ा योजनाबद्ध तरीके से किया गया, जिसमें से हमारा एक आदमी स्वर्गवासी हो गया है।’

साफ है कि मुस्लिम तबके से इस दंगे में गंभीर रूप से घायल हुए दो युवकों समेत अन्य 6 लोगों के साथ उनकी कोई हमदर्दी नहीं है।

इस बारे में राजद नेता मीसा भारती ने ट्वीट कर कहा कि कासगंज में वही हुआ जो भाजपा चाहती है मुस्लिम बहुल इलाकों में भड़काउ नारे और गाने बजा मुसलमानों को चिढ़ाया जाता है जिससे दंगा भड़के। भारती ने कहा कि जिस आरएसएस ने 50 साल तक तिरंगे का सम्मान नहीं किया, वही आज तिरंगे के नाम पर फसाद करा रही है।

देखें वीडियो :