Last Update On : 19 10 2018 09:58:17 PM

पंजाब के अमृतसर में दशहरा के दौरान सामने आया बड़ा हादसा, दशहरा में रावण दहन देखने के लिए रेलवे फाटक के पास इकट्ठी भीड़ पर ट्रेन चढ़ गई जिसमें 60 से भी ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर, मगर यह आंकड़ा पहुंच सकता है 100 के पार

जनज्वार। दशहरा में रावण दहन के दौरान अमृतसर में एक बड़ा ट्रेन हादसा सामने आया है। दशहरे में रावण दहन के दौरान एक जलते पुतले की वजह से वहां भगदड़ मच गई। यह पुतला दहन चूंकि रेलवे फाटक के पास किया जा रहा था तो भगदड़ मचने से भीड़ रेलवे फाटक की तरफ भागी। उसी दौरान वहां से एक डीएमयू ट्रेन गुजर रही थी। भगदड़ के बाद जान बचाने के लिए भागते लोग उसकी चपेट में आने से यह हादसा हुआ। यह भयावह हादसा अमृतसर के चौड़ा फाटक के पास हुआ, जहां से ट्रेन नंबर 74643 गुजर रही थी।

हालांकि अभी तक पुलिस विभाग की तरफ से मरने वालों की संख्या 50—60 होने की आशंका जताई जा रही है, मगर प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यहां 100 से भी ज्यादा लोग ट्रेन और भगदड़ के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं।

घटनास्थल पर पहुंची पुलिस के मुताबिक, ‘हम वहां से लोगों को हटा रहे हैं। स्थिति का जायजा लिया जा रहा है।’ मीडिया में आई खबरों के मुताबिक घटनास्थल पर रावण दहन देखने के लिए लगभग 500 लोग जमा थे। एडीसीपी लखबीर सिंह के अनुसार अभी तक 15 लाशें बरामद कर ली गई हैं, जिनकी संख्या कहीं ज्यादा हो सकती है।

इस भयावह हादसे के बाद पंजाब सरकार ने मरने वालों के परिवारों के लिए 5-5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। अमृतसर के पुलिस कमिश्‍नर एसएस श्रीवास्‍तव ने मीडिया को बताया कि मरने वालों की सही—सही संख्‍या की फिलहाल जानकारी नहीं है, मगर निश्चित रूप से 50-60 लोग जरूर मरे होंगे।

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर शोक जताया कि ‘अमृतसर में रेल दुर्घटना की खबर सुनकर सदमे में हूं। दुख की इस घड़ी में सभी सरकारी और प्राइवेट अस्‍पतालों को खुला रखने के निर्देश दे दिए गए हैं। जिला प्रशासन को राहत एवं बचाव कार्य युद्ध स्‍तर पर करने के निर्देश दिए गए हैं।’