पीएनबी बैंक घोटाले में अंबानी कनेक्शन का आलम यह है कि फुफेरी बहन के पति को सीबीआई बना चुकी है पहले ही आरोपी

नीरव मोदी लगा था हीरा का कालाधंधा फैलाने में और बीवी कर रही थी सोशलाइजेशन जिससे संकट आने पर काम आ सकें नेता, नौकरशाह और बड़ी हस्तियां

उसी का किया इस्तेमाल और छह महीने पहले ही बीच सत्र में बच्चों का नाम मुंबई से कटवाकर कर दिया था यूएसए शिफ्ट

लेखिका शोभा डे की बेटी और भाजपा प्रवक्ता शाइना एनसी की भाभी करती रही हैं नीरव मोदी के लिए काम, महाराष्ट्र के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमार शिंदे की बेटी प्रिति और दामाद राज सर्राफ से था नीरव की बीवी का गहरा रिश्ता

जनज्वार, दिल्ली। सूरत के 46 वर्षीय हीरा व्यापारी नीरव मोदी द्वारा सरकारी बैंक पीएनबी का 11 हजार 400 करोड़ रुपया हजम कर यहां से भाग जाने की चाल कोई एक दिन की सोची—समझी प्लानिंग नहीं थी, बल्कि वह लंबे समय से उसकी प्लांनिंग कर रहा था।

इसी प्लानिंग के तहत नीरव मोदी ने मुंबई के एक स्कूल में पढ़ाई कर रहे अपने तीनों बच्चों का नाम छह महीने पहले ही तब कटवा लिया था, जब पढ़ाई का मध्य सत्र था। बच्चे अपनी मां अमी मोदी जो अमेरिकी नागरिक है, के साथ यूएसए शिफ्ट हो गए।

हालांकि तब नीरव द्वारा स्कूल के मिड सेशन में बच्चों का स्कूल छुड़वाने पर कुछ बिजनैस फेमिलीज आश्चर्य व्यक्त कर रही थीं कि ऐसा क्यों किया होगा? अब यह बात अच्छी तरह समझ में आ गयी है कि भगोड़े नीरव मोदी ने ऐसा क्यों किया।

दूसरी तरफ पीएनबी घोटाले में गिरफ्तार पीएनबी के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी, सीडब्ल्यूओ मनोज खरात और नीरव के आधिकारिक हस्ताक्षरी हेमंत से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि पीएनबी बैंक के पासवर्ड नीरव के पास ही रहते थे। किसी के पास बैंक का पासवर्ड होना एलओयू लेटर आॅफ अंडरटेंकिंग का निषेध है। अधिकारी यह सुविधा भगोड़े नीरव को इसलिए देते थे क्योंकि सभी के लिए अवैध कमीशन बंधा हुआ था। 

बैंक की लूट का सच सामने आने से पहले तक नीरव मोदी हीरा का धंधा देश दुनिया में फैला रहा था तो दूसरी तरफ उसकी पत्नी अमी मोदी बड़े—बड़े लोगों से संपर्क कर पार्टियों में जाना—आना करती थी। उसके जरिए वह अपना और नीरव सामाजिक हैसियत बढ़ाने का काम करती थी।

बीवी के सोशलाइट होने का ही फायदा था कि नीरव मोदी ने जब अमेरिका के न्यूयार्क में जब नीरव ने अपने हीरा शो रूम 2015 में उद्घाटन किया तो उसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप भी आए थे। इधर भारत में लेखिका शोभा डे जैसी हाइप्रोफाइल लेखिका की बेटी ने नीरव के लिए तो काम किया ही, भाजपा प्रवक्ता शाइना एनसी की भाभी अपर्णा चुणामसा भी काम करती रही हैं।

रही बात अंबानी की तो नीरव मोदी से अंबानी परिवार का न सिर्फ पारिवारिक रिश्ता है बल्कि कामकाजी भी है। नीरव के सौतेले भाई निशाल मोदी की शादी मुकेश और अनिल अंबानी की गोवा वाली बहन दीप्ति की बेटी इशिता से हुई है। निशाल का नाम भी पीएनबी फ्रॉड मामले में सीबीआई के मुकदमे में है।

अंबानी और ‘छोटे मोदी’ का व्यापारिक रिश्ता ये है कि नीरव मोदी के यहां चीफ फाइनेंसियल आॅफिसर के पद काम करने वाला विपुल अंबानी धीरूभाई अंबानी के सबसे छोटे भाई नीतूभाई अंबानी का बेटा है। यानी मुकेश और अनिल का चचेरा भाई है।

इस मसले पर वरिष्ठ पत्रकार और क्विंट के संपादक संजय पुगलिया ने ट्वीट किया है, नीरव मोदी ने मुंबई में पढ़ रहे अपने बच्चों का स्कूल छह महीने पहले छुड़वा दिया था, वह भी स्कूल सत्र के मध्य में। बच्चे अपनी माँ के साथ यूएसए शिफ्ट हो गए। कुछ बिजनैस फैमिलीज सोच रही थीं कि उन्होंने ऐसा क्यों किया, मगर अब समझ में आ गया होगा कि इसके पीछे क्या कारण था।

गौरतलब है कि नीरव मोदी 85वां सबसे अमीर भारतीय है। दुनिया के सबसे धनी लोगों में उसका 1234वां स्थान है।

सौरभ अग्रवाल ने एक शानदार ट्वीट किया है छोटा मोदी यानी नीरव मोदी के देश छोड़ने को लेकर, देश का पैसा लेकर भाग गए भगोड़े, जनता को मिले रोजगार के नाम पर पकौड़े।

रिटायर्ड आईडीएएस अधिकारी गुरचरन सिंह लिखते हैं, घोटाले के पता लगने और एफआईआर दाखिल कराने के बीच का समय सभी मोदियों को भगाने और घर शिफ्ट करऩे में लगा। दूसरा गुजरात चुनाव के खत्म होने का इंतजार किया गया। अगर यह घोटाले पहले खुल जाता तो गुजरात के साथ साथ केन्द्र से बीजेपी का सफाया हो जाता। (फोटो : नीरव की पत्नी अमी मोदी)


जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism


Facebook Comment