Last Update On : 29 06 2017 11:52:00 AM

मोदी सरकार के बीते तीन साल का ही यह गुस्सा है कि अमेरिका में हुए मोदी विरोधी प्रदर्शन का वीडियो भारत में तेजी से वायरल हो रहा है।

मोदी के 25—26 जून के अमेरिकी दौरे पर अमेरिका में हुए मोदी विरोधी प्रदर्शन का वीडियो भारत में तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में सिख समुदाय के लोग मोदी विरोधी नारे लगा रहे हैं और मोदी को किलर बोल रहे हैं। इसके अलावा कुछ लोग प्रधानमंत्री मोदी के पोस्टर पर जूते मार रहे हैं और फोटो को कुचल रहे हैं।

वीडियो में दिख रहे लोगों के हाथों में ‘डोंट इनवेस्ट इन इंडिया’ और ‘मोदी गो बैक’ के पोस्टर हैं और वे लोग ‘बूचर मोदी’, ‘मर्डरर मोदी’, ‘इंडियन हैपोक्रेसी सेम सेम’, ‘किलर मोदी’, ‘गो बैक’ जैसे नारे लगा रहे हैं।

माना जा रहा है कि सिख समुदाय के लोगों ने यह प्रदर्शन वाशिंग्टन की सड़कों पर उस समय किया, जब भारतीय प्रधानमंत्री अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से मिलने वाशिंग्टन पहुंचे थे।

प्रदर्शनकारियों में से कुछेक के हाथों में ‘पंजाब इंडिपेंडेंस 2020’ जैसे भी पोस्टर हैं, जिन्हें देखकर ऐसा लग रहा है कि प्रदर्शनकारियों में खालिस्तान समर्थक हैं। खालिस्तान समर्थित अलगाववादी अलग पंजाब की मांग करते रहे हैं और पंजाब में भारत सरकार ने खालिस्तानी विद्रोहियों को 80 के दशक में कुचला भी है।

खैर, मामला जो भी हो आश्चर्यजनक यह भी है कि मोदी विरोधी प्रदर्शन का यह वीडियो भारत में क्यों वायरल हो रहा है? क्या मोदी की कार्यशैली के खिलाफ लोगों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है और सरकार के प्रति असंतोष की आवाजें बुलंद होती जा रही हैं?

जाहिर है सरकार को इस पर गंभीरता से सोचना चाहिए और गलतियों को सुधारना भी।

देखें वीडियो