Last Update On : 08 08 2018 06:08:42 PM
फाइल फोटो

34 नाबालिग बच्चियों के यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा थे लगातार संपर्क में, समाज कल्याण मंत्री महोदया भी फोन से लगातार टच में थीं ब्रजेश ठाकुर के….

जनज्वार। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में 34 लड़कियों के साथ हुए यौन शोषण मामले में पति चंद्रेश्वर वर्मा का नाम आने के बाद समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने आज इस्तीफा दे दिया है। गौरतलब है कि विपक्ष की तरह से उनके इस्तीफे के लिए लगातार दबाव डाला जा रहा था। नीतीश सरकार का कहना है कि उनकी मंत्री मंजू वर्मा ने नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दिया है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 34 नाबालिग बच्चियों के यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा लगातार संपर्क में थे। यही नहीं मंजू वर्मा से भी ब्रजेश ठाकुर की काफी बातचीत होती थी। जनवरी से लेकर 1 जून तक ब्रजेश ठाकुर के साथ मंजू वर्मा की कुल 17 बार बातचीत होने का खुलासा हुआ है।

हालांकि मंजू वर्मा ने इस आरोप पर यह कहते हुए सफाई दी है कि वह राजनीतिक जीवन में हैं, तो कोई भी उन्हें फोन कर सकता है। मीडिया बेवजह इस मामले को तूल दे रहा है।

गौरतलब है कि सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर के तीन मोबाइल नंबरों के कॉल्स डिटेल रिकॉर्ड कर यह बात सामने रखी है। इसी में यह बात भी सामने आई कि नीतीश सरकार में समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा भी ब्रजेश ठाकुर के लगातार संपर्क में थे। मंजू वर्मा के पति ने तो कई बार ब्रजेश ठाकुर के साथ दिल्ली यात्रा भी की थी।

हालिया घटनाक्रम में इस बात का भी ख़ुलासा हुआ है कि मंत्री मंजू वर्मा के पति पिछले कुछ महीनों के दौरान एक बार नहीं, बल्कि 9 बार मुजफ्फरपुर भी गये थे, जबकि मंत्री महोदया कहती हैं कि उनके पति को झूठ—मूठ का लपेटा जा रहा है वह एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

भाजपा ने भी मांग की थी कि मंजू वर्मा को नैतिकता के आधार पर अपना इस्तीफा नीतीश कुमार को सौंप देना चाहिए। इस मामले में एक बात और भी गौर करने वाली बात है कि जब आरोपों के लपेटे में मंजू वर्मा आने लगी तो उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट के जरिए मंजू वर्मा का बचाव किया।

मंजू वर्मा ने मीडिया के सामने यह भी कहा था कि अगर यह बात कहीं से साबित हो जाती है कि बच्चियों के बलात्कार मामले में मेरी कहीं संलिप्तता है तो मैं खुद—ब—खुद इस्तीफा दे दूंगी। अब जब उन्होंने इस्तीफा दे दिया है तो मीडिया में यह चर्चा भी आम है कि क्या मंजू वर्मा ने स्वीकार लिया है कि बच्चियों से बलात्कार मामले में वह भी बराबर की दोषी हैं।

मुजफ्फरपुर बाल संरक्षण पदाधिकारी रवि रौशन की पत्नी के बयानों के बाद ही मंजू वर्मा के पति पर सीबीआई का शिकंजा कसा था। रवि रौशन के खिलाफ पीड़ित बच्चियों ने ऐसे—ऐसे बयान दिए थे कि उसके और उसके साथियों ब्रजेश ठाकुर और अन्य के इंसान होने पर भी शर्म आ जाए।