Last Update On : 17 01 2018 08:17:00 PM

दलित युवा को पीटते हुए लगा रहे हैं देवी—देवताओं का जयकारा, पिटने वाला युवा लगा रहा है छोड़ने की गुहार…

मुजफ्फरनगर। सोशल मीडिया पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक युवक की सरेआम निर्ममता से की जा रही लाठी—डंडों से पिटाई का वीडिया वायरल हो रहा है। न सिर्फ युवक को पीटा जा रहा है, बल्कि गंदी—गंदी गालियां भी दी जा रही हैं। वीडियो में जो आवाजें सुनाई दे रही हैं उससे लग रहा है कि युवाओं का ग्रुप उसे पीट रहा है।

गालियों की आवाजें वीडियो में साफ—साफ सुनाई दे रही हैं। पीटने वाले लोग कह रहे हैं कि देवी-देवताओं का अपमान क्यों किया? क्यों देवी-देवताओं के पोस्टर उखाड़े? पिटाई करने वाले लोग देवी—देवताओं के जयकारा भी लगा रहे हैं।

पुलिसिया जांच में पता चला है कि पिटने वाले युवक का नाम विपिन है, जो कि दलित जाति से ताल्लुक रखता है। वह गुहार लगा रहा कि उसे छोड़ दें, मगर उसकी बात सुने बिना लगातार उसे पीटा जा रहा है। पिटने वाले युवा ने सिर पर हेलमेट पहना हुआ है, जिससे लग रहा है कि वह बाइक से कहीं जा रहा होगा और उसकी गाड़ी रोककर उस पर हमला किया गया है।

पुलिसिया जांच में खुलासा हुआ है कि यह वीडियो मुजफ्फरनगर के पुरकाजी थाना क्षेत्र के केलनपुर गांव का है, जिसे हाल ही में 13 जनवरी को बनाया गया है। जिस युवक को पीटा जा रहा है, वह दलित जाति का है जो अभी जेल से छूटकर बाहर आया है।

हिंदुत्ववादी संगठनों का आरोप है कि इस युवा को इसलिए सरेआम पीटा गया क्योंकि उसने अपने अन्य तीन साथियों के साथ मिलकर दलितों के घर-घर जाकर देवी देवताओं के पोस्टर और मूर्तियां फेंकवा दी थीं। इतना ही नहीं इन लोगों ने दलितों के घरों में भगवान के स्थान पर बाबा भीमराव आंबेडकर और रविदास के पोस्टर चिपकाए थे, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था।

जब युवक के देवी—देवताओं की मूर्तियां और पोस्टर फेंकवाने का वीडियो हिंदू संगठनों ने देखा तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी थी। युवक की रिपोर्ट करने वालों में हिंदू युवा वाहिनी समेत कुछ अन्य संगठन शामिल थे। इसी मामले में दलित युवा और उसके तीन साथियों को जेल में डाला गया था और हाल ही में वह छूटकर बाहर आया था।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक सहारनपुर हिंसा के दौरान भी दलित युवा विपिन ने खुद को भीम आर्मी की युवा विंग से जुड़ने की बात कहते हुए आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर डाली थी। तब भी पुलिस ने उसके खिलाफ एक्शन लिया था।

हिंदू संगठनों से जुड़े युवाओं ने हिंदू देवी-देवताओं के अपमान करने से नाराज होकर ही विपिन की पिटाई कर उसका विडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है। पीटने वाले युवक कहते सुने जा रहे हैं कि इसका वीडियो बनाओ।

अब इस मामले में27 वर्षीय विपिन के पिता ने पुरकाजी थाने में चार युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। एसपी सिटी ओमवीर सिंह के मुताबिक पुलिसिया जांच में ही यह बात सामने आई है कि यह वीडियो 13 जनवरी को बनाया गया है। पुलिस का कहना है कि दलित युवक की पिटाई करने वालों के खिलाफ वह सख्त एक्शन लेगी।

देखें वीडियो किस बेरहमी से पीट रहे हैं दलित युवा को :