Last Update On : 14 07 2017 05:55:00 PM

समुद्री तट की स्वच्छता की जिद पर अड़े सुदर्शन, पिछले तीन दिनों से भूख हड़ताल पर

उड़ीसा, पुरी। ‘सुप्रभात, दोस्तो अब मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं। मेरे सभी शुभचिंतकों का उनके निरंतर समर्थन और मेरी चिंता करने के लिए बहुत—बहुत धन्यवाद।’ यह ट्वीट रेत के चित्रकार सुदर्शन पटनायक ने अपने चाहने वालों के लिए हॉस्पिटल से किया है।

गौरतलब है कि सुदर्शन पटनायक समुद्र तट पर होने वाली गंदगी के खिलाफ भूख हड़ताल कर रहे थे, जिस दौरान वो बीमार पड़ गए और उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। पटनायक ने पुरी में बंकिमुहान के समीप उस जगह पर भूख हड़ताल शुरू की थी, जो गंदगी से पटा हुआ था। उन्होंने 11 जुलाई को इस इलाके को प्रदूषणमुक्त किए जाने की मांग को लेकर हड़ताल शुरू की थी।

सुदर्शन पटनायक के मुताबिक उन्होंने गंदगी से पटे बंकिमुहान को भूख हड़ताल के लिए इसलिए चुना, क्योंकि ओडिशा सरकार से वे कई बार इस इलाके को प्रदूषणमुक्त की मांग कर चुके हैं, मगर हमेशा बात अनसुनी कर दी गई।

भूख हड़ताल पर बैठने से पहले इस रेत कलाकार ने ‘पुरी बंकिमुहान बीच बचाओ’ के संदेश के साथ अपनी रेत की एक कलाकृति की तस्वीर ट्वीटर पर पोस्ट करते हुए लिखा था कि मैं बंकिमुहान बीच पर प्रदूषण के खिलाफ अपनी कला के जरिए धरने पर बैठकर विरोध प्रकट कर रहा हूं।

सुदर्शन पटनायक का कहना है कि उन्होंने पिछले साल ट्वीटर के जरिए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को एक संदेश भेजा था और बीच पर बढ़ते प्रदूषण की ओर उनका ध्यान खींचा था। साथ ही रेत कलाकार ने यह भी कहा कि बीच को साफ रखने के लिए संबंधित प्राधिकरणों को मुख्यमंत्री ने दिशा—निर्देश जारी कर दिए गए थे, बावजूद इसके स्थिति में कोई सुधार नहीं आया।