Last Update On : 28 06 2018 08:16:24 PM

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री ने जनता दरबार से ही पुलिस को दिया महिला शिक्षिका को हिरासत में लेने का आदेश, कहा तुरंत सस्पेंड करो इसे

देहरादून, जनज्वार। उत्तराखण्ड की राजधानी देहरादून में आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जनता दरबार में एक महिला शिक्षिका ने मुख्यमंत्री को गा​लियों से नवाजते हुए चोर—उचक्का और शराब माफिया कहा, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने अपने खिलाफ अपशब्द कहने वाली महिला शिक्षिका को मौके पर ही पुलिस हिरासत में भेजते हुए नि​लंबित करने के आदेश दे दिए।

घटनाक्रम के मुता​बिक आज उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के देहरादून में लगे जनता दरबार में एक महिला अर्जी लेकर गई थी, जब उसकी अर्जी पर मुख्यमंत्री ने कोई कार्रवाई नहीं की और उसकी बातों पर कान ​नहीं दिया तो शिक्षिका आपे से बाहर हो गई और मुख्यमंत्री को चोर—उचक्का और शराब माफिया और गा​लियां दीं।

दुर्गम जगह से सुगम स्थान पर ट्रांस्फ़र करवाने की फ़रियाद महिला यह कहते हुए कर रही थी कि उसके पति की मौत हो चुकी है और उसके बच्चों को देखने वाला कोई नहीं है, आप मेरे साथ न्याय कीजिए? महिला के इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने बजाय बात को समझने या फिर उन्हें कुछ समझाने के यह कहा कि जब नौकरी ज्वाइन की थी तो क्या लिख के दिया था? इस सवाल के जवाब में महिला के यह कहने पर कि यह नहीं लिखा था कि जिंदगीभर वनवास नहीं भोगूंगी, मुख्यमंत्री भड़क गए, कहा सभ्यता सीखिए बोलने की। यहीं पर सस्पेंड कर दूंगा, अभी सस्पेंड हो जाओगी।

इसके बाद महिला शिक्षक भी गुस्से में आ गई। उसने मुख्यमंत्री को शराब मा​फिया, चोर—उचक्का कहा। मुख्यमंत्री पहले तो उसे धमकाते रहे कि अपना मुंह बंद करो, नहीं तो निलंबित दूंगा, मगर उसके बावजूद जब महिला चुप नहीं हुई तो एसपी दून को आदेश दिया कि उसे तुरंत कस्टडी में ले कार्रवाई करें और उसे निलंबित कर दिया जाए।

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक देहरादून में आज मुख्यमंत्री आवास पर लगे जनता दरबार में मुख्यमंत्री को लताड़ने वाली शिक्षिका का नाम ऊर्जा बहुगुणा है। वह जनता दरबार में अपने तबादले की मांग लेकर पहुंची थी। जब मुख्यमंत्री ने शिक्षिका की मांग की तरफ कोई ध्यान नहीं दिया तो उसने जनता दरबार के बीच ही सीएम को अपशब्द कहना शुरू कर दिया।

देखें क्या और क्यों कहती है महिला शिक्षिका