सीबीआई अदालत आज देगी फैसला, 22 राजनेता—अधिकारी हैं 950 करोड़ के चारा घोटाले के हैं आरोपी, असल सवाल एक ही कि अगर चारा घोटाले में अगर लालू जेल गए तो क्या होगी राजद की रणनीति

जनज्वार, देवघर। आत्मविश्वास से भरे राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव से जब पत्रकारों ने पूछा कि आपको क्या लगता है, क्या होगा फैसला तो उन्होंने बड़े ही दमखम के साथ कहा, ‘हम बीजेपी की साजिश के आगे नहीं झुकेंगे।’ उन्होंने आगे कहा, ”जैसा 2जी में हुआ, जैसा अशोक चह्वान का हुआ, वैसा ही हमारा भी होगा।’ खैर अच्छा ये है कि लालू प्रसाद यादव ने न्यायपालिका में अपना भरोसा जताया है। 

950 करोड़ रुपए के चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपए की अवैध निकासी के मुकदमे में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा, विद्यासागर निषाद, आर के राणा, जगदीश शर्मा, ध्रुव भगत, समेत 22 लोगों के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत आज अपना फैसला सुनाएगी। इस अहम फैसले पर पूरे देश की नजर बनी हुई है।

रांची में अभी सुनवाई चल रही है, ऐसे में सारी अटकलें संभावनााओं पर लगी हुई हैं। माना जा रहा है कि अगर चारा घोटाले में सीबीआई अदालत लालू प्रसाद यादव को दोषी मानते हुए सजा सुनाती है तो उन्हें तुरत जेल जाना होगा।

ऐसे में राजनीतिक स्तर पर दो सीन बनेंगे। पहला कि राजद के मुुखिया का असल कार्यभार लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और पूर्व मंत्री तेजस्वी यादव संभालेंगे। दूसरा कि राजद में बिखराव हो सकता है, जिसका फायदा उठाने की ताक में जदयू लगातार बनी हुई है। वहीं कांग्रेस को भी फैसले का इंतजार है। बिहार में राजद और कांग्रेस एक साथ मुख्य विपक्षी की भूमिका निभा रहे हैं।

 


जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism


Facebook Comment