Last Update On : 17 09 2018 04:46:01 PM
photo : Amar Ujala

समाजवादी पार्टी की सरकार में पूर्व राज्यमंत्री और मशहूर बिरहा गायक संगीता यादव संदिग्ध परिस्थितियों में मिली जली हालत में, कहा जा रहा है ससुराल वालों ने की है जिंदा जलाकर मारने की कोशिश….

जनज्वार। अगर एक आम लडकी घरेलू हिंसा की शिकार हो तो बात समझ में आती है मगर जब एक ओहदेदार मंत्री रही महिला ससुराल में संदिग्ध परिस्थितियों में जली हुई हालत में मिले तो इसे क्या कहेंगे।

जी हां, ऐसा ही एक मामला सामने आया है उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के विठुआ कला में। अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक सपा सरकार में पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री, मशहूर बिरहा गायक और ललित कला अकादमी की पूर्व उपाध्यक्ष रहीं संगीता यादव को उनके ससुराल वालों ने जिंदा जलाकर मारने की कोशिश की।

गंभीर रूप से घायल संगीता यादव का जौनपुर जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। इस घटना की जानकारी मिलते ही जिले में हड़कंप मच गया है।

संगीता यादव को जलाए जाने की घटना सामने आने के बाद उनके पति फरार चल रहे हैं। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता इस मामले में पुलिस से निष्पक्ष जांच की मांग कर रहे हैं और मांग यह भी कर रहे हैं कि आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ कड़ी सजा दी जाए।

मीडिया में आई जानकारी के मुताबिक सपा सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री रहीं संगीत यादव का मायका मछलीशहर थाना क्षेत्र के कताहित गांव में है। 2016 में इनकी शादी बदलापुर थाना क्षेत्र के विठुआ कला के दुर्गेश यादव के बेटे जयनाथ यादव से हुई थी, जिसमें सपा नेता शिवपाल यादव समेत तमाम दिग्गज भी शामिल हुए थे। संगीता को शिवपाल यादव का बेहद करीबी माना जाता है।

संगीता अपने पति के साथ लखनऊ में रहती हैं। तीन दिन पहले वह अपने ससुराल विठुआ कला आई थीं। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक ही संगीता और उनके पति के बीच अकसर विवाद रहता था। पारिवारिक विवाद को लेकर तीन दिन पहले उनके ससुराल में पंचायत भी हुई थी।

जिला अस्पताल में मीडिया से बात करते हुए संगीता ने अपने सास-ससुर और पति पर आरोप लगाते हुए कहा कि रविवार 16 सितंबर की रात जब वह कमरे में सो रही थीं तो उन्हें ससुराल वालों ने बुलाया और जबरन हाथ बांधकर उन पर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी। संगीता के मुताबिक उनकी चीख पुकार सुनकर जेठानी दौड़कर नीचे से आई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया।

फिलहाल मामले को लेकर सपा कार्यकर्ता हो—हल्ला मचा रहे हैं। अस्पताल के बाहर सपाइयों का जमावड़ा लगा दिया। बेहतर उपचार के लिए डॉक्टरों ने उन्हें वाराणसी रेफर कर दिया है। हालांकि अभी संगीता यादव की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है।