Last Update On : 21 11 2017 09:45:00 PM

कुछ लोगों ने जब प्रकाश का पोस्टमार्टम करवाये जाने को लेकर सवाल उठाए तो डॉक्टर जायसवाल ने कहा कि प्रकाश की मौत जिस तरीके से हुई है उन मामलों में पोस्टमार्टम करवाने की जरूरत नहीं पड़ती…

नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड के बेटे प्रकाश दहल की दिल का दौरा पड़ने से 19 नवंबर को मौत हो गई।

39 वर्षीय प्रकाश दहल अपने पिता पुष्प कमल दहल प्रचंड के राजनीतिक सचिव और कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के केंद्रीय सदस्य थे। गौरतलब है कि हार्ट अटैक आने के बाद प्रकाश दहाल को तड़के सुबह 5.50 बजे थापाथाली स्थित नॉर्विक इंटरनेशनल अस्पताल में इलाज के लिए जे जाया गया, जहां 5.59 बजे चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

प्रकाश दहल को देखने वाले डॉक्टर जे.पी. जायसवाल के मुताबिक जब प्रकाश दहल को अस्पताल लाया गया उससे तीन घंटे पहले ही उनकी सांसें थम चुकी थीं। डॉक्टर जायसवाल के मुताबिक जब उन्हें अस्पताल लाया गया तो उनका शरीर पूरी तरह ठंडा पड़ चुका था और नब्ज भी बंद थी।

कहा जा रहा है कि शायद रात को सोने के बाद ही प्रकाश दहल को दिल का दौरा पड़ा होगा। हालांकि कुछ लोगों ने जब प्रकाश का पोस्टमार्टम करवाये जाने को लेकर सवाल उठाए तो डॉक्टर जायसवाल ने कहा कि प्रकाश की मौत जिस तरीके से हुई है उन मामलों में पोस्टमार्टम करवाने की जरूरत नहीं पड़ती। साफ पता चल रहा है कि उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है।

प्रकाश दहल की जब मौत हुई तब प्रचंड झापा में प्रांतीय व संसदीय चुनावों के आगामी चरण के प्रचार अभियान में शामिल होने गए थे। गौरतलब है कि दो सप्ताह बाद नेपाल में प्रांतीय और संसदीय चुनावों के पहले चरण के लिए मतदान होगा। प्रकाश की पत्नी बीना दहल भी कंचनपुर जिले से संसद के लिए चुनाव लड़ रही हैं।

प्रकाश प्रचंड के इकलौते बेटे थे, जबकि उनकी तीन बहनें हैं। 4 साल पहले प्रचंड की एक बेटी की मौत भी कैंसर के चलते हो चुकी है।

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने प्रकाश दहल की मौत पर शोक संवेदना और दुख व्यक्त करते हुए कहा कि ईश्वर पूर्व नेपाली प्रधानमंत्री प्रचंड और परिजनों को इस भारी दुख को सहन करने की शक्ति दे।