Last Update On : 08 06 2018 04:55:51 AM

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल बोले आईसीयू में 4 मरीजों की मौत का कारण उनकी बीमारी न कि एयरकंडीशनिंग सिस्टम का खराब होना…

कानपुर, जनज्वार। कानपुर स्थित गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में एयर कंडीशनर खराब हो जाने के कारण 4 मरीजों की मौत का मामला सामने आया है।

समाचार एजेंसी एएनआई में प्रकाशित खबर के हवाले से खबर है कि लोगों ने आरोप लगाया है कि कानपुर स्थित गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज के आईसीयू वार्ड में एयर कंडीशनिंग सिस्टम खराब होने के कारण 4 मरीजों की मौत हो गई है। जबकि जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल का कहना है कि ​जिन 4 लोगों की मौत हुई है उनमें से 2 की मौत का कारण कार्डियक अरेस्ट और अन्य 2 की मौत क्रोनिक इलनैस के चलते हुई है।

एसी संयंत्र खराब होने के सवाल पर प्रिंसिपल कहते हैं कि इसकी जल्द ही मरम्मत की जाएगी। यानी यह बात सही है कि आईसीयू का एयरकंडीशनिंग सिस्टम खराब हुआ। इससे अस्पताल प्रशासन की मरीजों के प्रति गैर जिम्मेदाराना हरकतों का भी पता चलता है कि गंभीर रूप से बीमार लोगों की जान की कीमत उसके लिए कुछ नहीं है।

जबकि मरीजों के तीमारदारों का कहना है कि अस्‍पताल में एसी सिस्टम फेल होने से वेंटीलेटर और अन्य जीवन रक्षक उपकरणों ने भी काम करना बंद कर दिया। इस घटना से अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मचा और वे मामले की लीपापोती करने में लगे हैं।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के अस्‍पताल में बुधवार 6 जून की रात 12 बजे एयर कंडीशनिंग सिस्टम ठप हो गया था। खबर यह भी है कि मेंटेनेंस का ठेका खत्म होने से उसकी मरम्मत नहीं की गई थी। ऐसे में चारों तरफ से बंद आईसीयू वार्ड में मरीज तड़प उठे। जूनियर डॉक्टरों की शिकायत के बाद मरम्मत करने के लिए इंजीनियर आए, तब पता चला कि एसी प्लांट की मोटरें फुंकने से कूलिंग फेल हो गई। ऐसे में अंदर हवा का कोई इंतजाम न होने से लगे कंप्यूटर और वेंटिलेटरों ने भी काम करना बंद कर दिया। इस दौरान 24 घंटे में एक-एक करके चार मरीजों की मौत हो गई।

अस्पताल प्राइवेट हों चाहे सरकारी, गरीबों की मौत कभी कोई बड़ा सवाल नहीं बन पाती। यहां भी अस्पताल प्रशासन तमाम तर्कों के साथ अपनी बात रखेगा और यह मामला ऐसे ही दब जाएगा। कहा जाएगा कि जिनकी मौत हुई है वो तो पहले से ही इस हालत में नहीं थे कि जिंदा रह पाएं। जैसा कि अपने बचाव में जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल का बयान भी आ चुका है कि मौतों का कारण बीमारी था न कि एयरकंडीशनिंग सिस्टम का खराब होना।

इस खबर को लेकर ट्वीटर पर लोग तरह—तरह की प्र​तिक्रियाएं कर रहे हैं। महेश मेहरा कहते हैं, देश में जहां नागरिक मौत सामान्य समाचार है और कुछ भी नहीं। वह देश महान नहीं हो सकता है? तो ठाकुर युवराज सिंह कहते हैं अरे वाह कितना जिम्मेदार हॉस्पिटल है।

इस घटना की जांच पर अस्पताल प्रशासन का कहना है कि हमने पूरी घटना के जांच के आदेश दे दिए हैं। मगर एसी खराब होने के वजह से मौत की बात को मानने से प्रशासन से साफ साफ इंकार कर दिया।