कुछ दिन पहले टेलीग्राफ अखबार की सुर्खियां बना नीरव मोदी भारत के पंजाब नेशनल बैंक के 11 हजार करोड़ रुपए लेकर भागने का है आरोपी

जनज्वार, दिल्ली। मोदी सरकार में देश लूटकर भागने वालों में शराब कारोबारी विजय माल्या के बाद सबसे चर्चित रहे नीरव मोदी की आज लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है। नीरव मोदी पीएनबी घोटाले (PNB Scam) का मुख्य आरोपी और भगोड़ा हीरा कारोबारी है।

नीरव मोदी की गिरफ्तारी लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश होने के दौरान हुई, जब ​मजिस्ट्रेट ने जमानत देने से मना कर दिया था। जमानत के लिए नीरव मोदी की तरफ से 500,000 पाउंड देने का प्रस्ताव रखा गया था, जिसे लंदन की कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

नीरव के जमानत की अगली सुनवाई 29 मार्च को होगी, जिसके बाद तय होगा कि उसे जमानत दी जाए या नहीं। माना जा रहा है कि लंदन की अदालत ने नीरव मोदी की गिरफ्तारी भारत के ईडी द्वारा जारी वारंट के अनुरोध के आधार पर किया है।

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार हो सकता है कि भारत सरकार नीरव मोदी को ब्रिटेन की सरकार से इजाजत लेकर भारत ले आए। नीरव मोदी के भारत आने को लेकर चल रही अटकलबाजियों के बीच कांग्रेस महासचिव ने चुटकी लेते हुए कहा है, ‘नीरव मोदी को भाजपा ने ही भगाया था, अब उसे चुनाव के लिए भारत ला रही है। चुनाव के बाद भाजपा उसे वापस भेज देगी।’

संबंधित खबर : कांग्रेस के समय नहीं पिछले साल मोदी सरकार में मिला नीरव मोदी को 11 हजार करोड़ का लोन


जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism


Facebook Comment