Last Update On : 11 01 2018 10:11:00 AM

व्यवसायियों ने कहा त्रिवेंद्र सरकार है मौत के लिए जिम्मेदार, व्यापार में हुए घाटे के कारण मजबूरी में उठाया आत्महत्या जैसा कदम…

हल्द्वानी, जनज्वार। जीएसटी और नोटबन्दी से त्रस्त कारोबारी प्रकाश पांडे की उत्तराखण्ड के कैबिनेट मंत्री के सामने जहर खाने से हुई मौत के विरोध में हल्द्वानी के व्यापारियों द्वारा कल 10 जनवरी को बंद आयोजित किया गया। प्रकाश पांडे की मौत को बीजेपी सरकार प्रायोजित मौत करार देते हुए व्यापारियों ने कहा कि यह बंद उन्हें श्रद्धांजलि और हमारे आंदोलन की शुरुआत है।

कल सुबह व्यापार मंडल के पदाधिकारी व ट्रांसपोर्ट व्यापारियों का जुलूस पटेल चौक पर एकत्र हुआ। प्रान्तीय नगर उद्योग व्यापार मंडल के केंद्रीय संयोजक डॉ धर्म प्रकाश यादव के नेतृत्व में जुलूस पूरे हल्द्वानी बाजार में घूमा। बंद में मौजूद व्यापारियों ने सभी से आह्वान किया कि वे प्रकाश पांडे की सुनियोजित मौत के विरोध में इस बंद का समर्थन करें।

संबंधित खबर : देखिए उत्तराखण्ड में मंत्री के सामने जहर खाकर जान देने वाले प्रकाश पांडे का आखिरी वीडियो

व्यापारियों का यह जुलूस सबसे पहले पटेल चौक पर एकत्र हुआ। उसके बाद सैकड़ों लोगों का यह हुजूम सदर बाजार, बर्तन बाजार, कारखाना बाजार, साहूकार लाइन, मीरा मार्ग, मंगल पड़ाव, रामपुर रोड, रोडवेज रेलवे बाजार, प्रेम टाकीज, नैनीताल रोड, कालाढूंगी रोड से होते हुए दोबारा पटेल चौक पहुंचा।

दोबारा पटेल चौक पर पहुंच यहां प्रकाश पांडे की मौत पर शोकसभा आयोजित की गई। सभा को संबोधित करते हुए प्रान्तीय नगर उद्योग व्यापार मंडल के केंद्रीय प्रवक्ता वीरेंद्र गुप्ता ने कहा कि जीएसटी की गलत खामियों के कारण हमारे साथी का व्यवसाय चौपट हो गया। सरकार से महीनों से गुहार लगाने के बावजूद जब उसकी कोई बात नहीं सुनी गई तो मजबूरन उसे आत्महत्या जैसा कदम उठाना पड़ा।

व्यवसायियों ने कहा कि प्रकाश पांडेय की मौत को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जब तक राज्य की त्रिवेंद्र रावत सरकार स्वर्गीय प्रकाश पांडेय के परिवार को आर्थिक सहायता व परिवार के किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी नहीं देती तब तक व्यापार मंडल आंदोलन के लिए बाध्य रहेगा।

यह भी पढ़ें :  उत्तराखण्ड में जहर खाकर मंत्री के सामने पहुंचे कारोबारी की मौत

व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने कहा कि व्यापारी वर्ग परेशान है, लेकिन भाजपा सरकार को इन बातों से कोई लेना—देना नहीं है। फिर चाहे व्यापारी भुखमरी का शिकार हो क्यों न हो जाए।

देवभूमि के अध्यक्ष गोविंद बगडवाल ने बंद का समर्थन करने पहुंचे सभी व्यापारियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हमें इसी तरह व्यापारी एकता बनाये रखनी होगी, ताकि हमारा कोई और साथी आत्महत्या के लिए मजबूर न हो।

शोक सभा के बाद सभी व्यापारी स्वर्गीय प्रकाश पांडेय की अंत्योष्टि पर रानीबाग स्थित चित्रशिला घाट गए। वहां सभी ने उन्हें श्रधांजलि दी।

यह भी पढ़ें : उत्तराखण्ड में जहर खाकर मंत्री के सामने पहुंचा कारोबारी, कहा जीएसटी-नोटबंदी ने कर दिया है बर्बाद   

व्यवसायियों द्वारा आयोजित हल्द्वानी बंद में डॉ धर्म प्रकाश यादव, वीरेंद्र गुप्ता, गोविन्द बगडवाल, राजीव अग्रवाल, प्रदीप सबरवाल, मदन मोहन जोशी, विनोद, आनंद, रामप्रसाद कश्यप, चमन गुप्ता, मनोज जायसवाल, संजय राजपूत, हर्ष पांडेय, दीपक सक्सेना, राजकुमार नेगी, राजीव शर्मा, संदीप टण्डन, कैलाश पांगती समेत अनेक लोग मौजूद थे।

संबंधित वीडियो :