सर्जरी के बावजूद 3 महीने से जब पेटदर्द बना रहा तो पीड़ित महिला ने करवाया एक्सरे, आई चौंकाने वाली जानकारी और डॉक्टरी लापरवाही सामने कि महिला के पेट में सर्जरी करते वक्त डॉक्टरों ने छोड़ दी थी फोरसेप…

जनज्वार। डॉक्टरों की लापरवाही और अस्पतालों के गैर जिम्मेदार रवैये की खबरें आए दिन सुर्खियों में रहती हैं। कभी किसी डॉक्टर की लापरवाही के कारण नॉर्मल डिलीवरी के बावजूद प्रसूता को जान गंवानी पड़ी तो कभी पथरी के आपरेशन में डॉक्टरों ने मरीज की टांग काटने का मामला सामने आया है।

अब ऐसी ही एक भयानक ​डॉक्टरी लापरवाही एक बार फिर सामने आई है। हैदराबाद में डॉक्टरों की इस बड़ी लापरवाही में एक 33 साल की महिला की सर्जरी करते वक्त फोरसेप यानी चिमटी ही मरीज़ के पेट में छोड़ दी गई। इस बात का पता सर्जरी के कुछ महीने के बाद पेट में दर्द होने के बाद महिला के दोबारा एक्स—रे कराने पर चला।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक हैदराबाद के मशहूर निज़ाम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंस में तीन महीने पहले एक महिला की सर्जरी हुई थी। उसके बाद महिला ठीक होकर अपने घर चली गई थी, मगर उसके पेट में लगातार दर्द बना हुआ था। जब दर्द असहनीय हो गया तो उसने एक्सरे करवाया, जिसमें कल 8 फरवरी को यह चौंकाने वाली जानकारी सामने आई कि उसके पेट में सर्जरी करते वक्त डॉक्टरों ने फोरसेप छोड़ दी है।

पुलिस ने डॉक्टर और उनकी टीम के खिलाफ सेक्शन 336 और 337 के तहत मामला दर्ज किया है। इसके अलावा अस्पताल की आंतरिक कमिटी ने भी घटना की जांच शुरू कर दी है।

मामले की जांच कर रही पुलिस के मुताबिक इस भयानक चिकित्सा लापरवाही का मामला उस समय उजागर हुआ, जब 33 वर्षीय पीड़ित महिला पेट में दर्द महसूस करने के बाद अस्पताल पहुंची और वहां एक्स-रे करवाया गया। पुलिस के मुताबिक एक इंसान की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने वाली अक्षम्य भूल के लिए सर्जरी करने वाली डॉक्टरों की एक टीम के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। यह मामला पीड़ित महिला के पति द्वारा आरोपी डॉक्‍टरों के खिलाफ शिकायत के बाद दर्ज किया गया है।

पीड़ित महिला के पति के मुताबिक उन्होंने निम्स में पिछले साल नवंबर में अपनी पत्नी की हर्निया की सर्जरी कराई थी। सर्जरी के कुछ ही दिनों बाद उनके पेट में तेज दर्द रहने लगा था। अब ऐक्स-रे कराने पर पता लगा कि सर्जनों ने उनके पेट में कैंची छोड़ दी है।

इस मामले में निज़ाम इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंस (निम्‍स) के डायरेक्‍टर डॉक्‍टर मनोहर का कहना है कि पीड़ित महिला का दोबारा ऑपरेशन कर सर्जरी के दौरान छूटी हुई चिमटी निकाल दी गई है और अस्पताल प्रशासन की आंतरिक समिति इस मामले की जांच करेगी, जिसके बाद आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

Facebook Comments