Last Update On : 25 03 2018 09:56:00 PM

नमो एप से डाटा चोरी होनी की खबरों के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी पर कसा तंज, कहा आपका डाटा चोरी करके अमेरिकी कंपनियों को दे रहा हूं…

फेसबुक डाटा लीक कांड का पर्दाफाश और फेसबुक द्वारा डाटा कैंब्रिज एनालिटिका को बेचे जाने का खुलासा होने के बाद इसने राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है। जहां सोशल मीडिया पर यह मुद्दा छाया हुआ है, वहीं राजनेताओं ने भी डाटा चोरी मसले पर ट्वीटर वार शुरू कर दिया है।

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि ‘नमो एप’ की मदद से भाजपा लोगों का निजी डेटा लीक कर रही है। गौरतलब है कि पिछले कई दिनों से ‘नमो एप’ को लेकर घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी फेसबुक डाटा चोरी को लेकर पीएम मोदी पर तंज कसा है।

यह भी पढ़ें : आॅनलाइन अपराधों में अक्षम पुलिस साइबर अपराधियों का मुंह नहीं ताकेगी तो और क्या करेगी?

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया है, ‘हाय, मेरा नाम नरेंद्र मोदी है। मैं भारत का प्रधानमंत्री हूं। जब आप मेरे आधिकारिक एप (नमो) को साइन करते हैं तो मैं आपसे जुड़ी सभी जानकारी अपने दोस्तों यानी अमेरिकी कंपनी को दे देता हूं।’

गौरतलब है कि ‘नमो एप’ डाटा चोरी कांड का खुलासा होने के बाद तब चर्चा में आया है जब कुछ दिन पहले एनसीसी के तकरीबन 13 लाख कैडेट्स को प्रधानमंत्री से बातचीत करने से पहले इसे डाउनलोड करने का निर्देश दिया गया था। नमो एप के विरोध में 23 मार्च को #DeleteNamoApp कैंपेन के तहत दिनभर ट्वीटर पर यह ट्रेंड करता रहा। कांग्रेस का कहना है कि ‘नमो ऐप’ का इस्तेमाल करने वाले लोगों की निजी जानकारियां उनकी मंजूरी के बिना अमेरिकी कंपनी तक पहुंचाई जा रही हैं।

खुलासा : कुख्यात डाटा चोर कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की सबसे पुरानी ग्राहक है भाजपा

राहुल गांधी ने एक रिपोर्ट को बतौर फैक्ट बताते हुए कहा कि एक फ्रांसीसी निगरानी हैकर ने अपने श्रृंखलाबद्ध ट्वीटों में आरोप लगाया है कि ‘नमो एप’ के उपभोक्ताओं की ईमेल आईडी, तस्वीरें, लिंग व नाम सहित प्राइवेट डाटा उनकी सहमति के बिना एक तीसरे पक्ष के डोमेन पर ट्रांसफर की जा रही हैं।

प्रोफाइल हैक के नाम पर BFF टाइप करा बनाया जा रहा एफबी यूजर्स को मूर्ख

हालांकि राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद भाजपा ने इसके विरोध में पूरा ट्वीटरवार शुरू कर दिया है। अपना बचाव करते हुए तर्क गढ़े जा रहे हैं कि नमो एप से डाटा चोरी का आरोप लगाकर राहुल गांधी लोगों का ध्यान कैंब्रिज एनालिटिका डाटा चोरी मामले से भटकाना चाहते हैं, ‘नमो एप’ से कोई भी जानकारी विदेशों में शेयर नहीं की जा रही है।

फेसबुक डाटा लीक कांड का खुलासा होने के बाद राजनीतिक दलों खासकर भाजपा द्वारा चुनाव जीतने के लिए इसका इस्तेमाल करने का भी खुलासा हुआ है। जिस तरह अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को जिताने के लिए फेसबुक के माध्यम से कैंब्रिज एनालिटिका ने विभिन्न एप्स का इस्तेमाल कर डटा चोरी किया था उसी तरह भारत में भी भाजपा ने भी चुनाव जीतने के लिए फेसबुक का इस्तेमाल किया था। हालांकि कांग्रेस समेत अन्य राजनीतिक दल भी हाल में डाटाचोर कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका के ग्राहक बने थे।

एक्सक्लूसिव : फेसबुक कैसे और क्यों करवाता है आपकी प्रोफाइल से डाटाचोरी

 मोदी की पार्टी भाजपा 2014 लोकसभा चुनाव के पहले से कुख्यात डाटाचोर कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की चुनाव जीतने के लिए मदद ले रही है। मोदी के कानून मंत्री ने डाटा चोरी के मसले पर जैसे ही प्रेस कांफ्रेंस की उसके घंटे भर बाद ही कैंब्रिज एनालिटिका का एकाउंट भारतीयों को दिखना बंद हो गया और साइट डिलीट दिखाई देने लगी। जाहिर है मंत्री जी को इसकी सूचना पहुंच गयी होगी कि रविशंकर सर, इस हम्माम में हम सब नंगे हैं।

गौरतलब है कि इस प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि इसका इस्तेमाल कर कांग्रेस 2019 का चुनाव एकतरफा करना चाहती है। यह बात समझ से परे है कि जब कांग्रेस ने हाल ही में कैंब्रिज एनालिटिका की सेवाएं लेना शुरू किया था तो यह सवाल क्यों। या फिर भाजपा ने 2014 का चुनाव इसी के बल पर जीता था, जो कांग्रेस के इसकी सेवा लेने की भनक लगते ही खुलासा कर दिया गया कि कहीं 2019 के चुनाव में भाजपा को कड़ी शिकस्त न मिले।