Last Update On :

यह उस मोदी के बिगड़े बोल हैं जो भाजपा के कई वरिष्ठों को दरकिनार कर बने हैं प्रधानमंत्री, आडवाणी हैं इसका सबसे बड़ा उदाहरण…

कर्नाटक। कर्नाटक में होने वाले चुनावों के मद्देनजर राजनीतिक पार्टियों का एक दूसरे पर वार जारी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को बाल्टी वाला दबंग बता इस विवाद को और ज्यादा हवा देने का काम किया है। कांग्रेस—भाजपा के कार्यकर्ताओं की इस मुद्दे पर सोशल वार चरम पर है।

चुनाव प्रचार के लिए कर्नाटक पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने बंगारपेट में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राहुल का नाम न लेकर उन पर हमला बोलते हुए कहा, उनके द्वारा स्वयं को प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित कर देना बता देता है कि उनका अहंकार सातवें आसमान पर पहुंच चुका है, क्योंकि अति आत्मविश्वास में वो महाशय जनता से पूछते हैं कि मुझे प्रधानमंत्री बनना चाहिए या नहीं।

मोदी यही नहीं रुके उन्होंने राहुल पर हमला करते हुए कहा, मैं तो मानता हूं कि सवा सौ करोड़ लोग मेरे हाईकमान हैं, जबकि कांग्रेस के शासनकाल में प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह का रिमोट हमेशा 10 जनपथ के पास रहा। प्रधानमंत्री पद के इस उम्मीदवार को अपने वरिष्ठ नेताओं का सम्मान करना तक नहीं आता।

मोदी यहां पूरी कांग्रेस पर ही हमलावर होते हुए यह बोलने से भी नहीं चूके कि कांग्रेस बुरी तरह बीमार पार्टी है। कांग्रेस कल्चर, कम्युनलिज्म, कास्टिज्म, क्राइम, करप्शन और कांट्रेक्टर सिस्टम जैसी बीमारियों की शिकार है। इन छह बीमारियों ने मिलकर पार्टी को बर्बाद कर दिया है।

नरेंद्र मोदी ने राहुल को बाल्टी वाला दबंग बताते हुए कहा, कांग्रेस के अध्यक्ष दबंग की तरह काम करते हैं। जैसे किसी गांव में पानी की किल्लत होती है और ग्रामीणों को पता चलता है कि फलाने दिन तीन बजे पानी का टैंकर आने वाला है, तो सभी गांववाले एक कतार में बाल्टी लगा देते हैं। इंतजार करते हैं कि टैंकर आएगा और पानी मिलेगा। लोग ईमानदारी से नंबर लगा घर को चले जाते हैं, मगर राहुल उस दबंग की तरह हैं जो नियमों का पालन किए बिना दूसरों की बाल्टियों को हटा अपनी बाल्टी लगा देते हैं। यह दबंग कहता है कि सबसे पहले पानी पर उसी का हक है।

इस उदाहरण से मोदी ने कांग्रेस के उन असंतुष्ट नेताओं के जले पर नमक छिड़कने का काम भी किया, जो पहले से पार्टी से नाराज चल रहे हैं। मोदी ने कहा कल कांग्रेस के ये युवा अध्यक्ष कर्नाटक में भी इसी लीक पर चलेंगे। कांग्रेस में 40 साल न जाने कितने वरिष्ठ पीएम इन वेटिंग हैं पर राहुल कहते हैं कि अगर कांग्रेस 2019 में सत्ता में आती है तो वही प्रधानमंत्री बनेंगे।