Last Update On : 09 01 2018 07:01:00 PM

उत्तराखंड की भाजपा सरकार के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के सामने जनता दर्शन कार्यक्रम में पहुंचे थे ज़हर खाकर प्रकाश पांडे, भावुक होकर कहा था नोटबंदी और जीएसटी ने मुझे कर दिया है बर्बाद, परेशान होकर खाया है जहर…

देहरादून, जनज्वार। मोदी जी की नोटबंदी की भेंट एक और आम आदमी चढ़ गया। देहरादून स्थित भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में लगने वाले मंत्रियों के जनता दर्शन कार्यक्रम में 6 जनवरी को जहर खाने वाले व्यवसायी की इलाज के दौरान आज 9 जनवरी को देहरादून के मैक्स अस्पताल में मौत हो गई है।

गौरतलब है कि हल्द्वानी मूल के ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे उत्तराखंड सरकार के कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के सामने जहर खाकर पहुंच थे। उन्होंने कहा था कि वे नोटबंदी और जीएसटी के बाद से परेशान हैं, उनका व्यवसाय चौपट हो गया है, जिस कारण उन्होंने जहर खा लिया है।

गौरतलब है कि मोदी सरकार पर तोहमत लगाते हुए प्रकाश पांडे ने जनता दर्शन कार्यक्रम में जोर-जोर से कहा था कि नोटबंदी और जीएसटी ने उसे बर्बाद कर दिया है। इससे पहले की मंत्री और मौजूदा पार्टी पदाधिकारी कुछ समझ पाते, प्रकाश पांडे ने जहर की पुड़िया सामने रखते हुए बोला कि मैंने जहर खा लिया है।

गौरतलब है कि प्रकाश पांडे ने खनन और दूसरे कारोबार के लिये ट्रक खरीदे थे, जिसके लिये उन्होंने बैंक से कर्ज़ लिया था। मंत्री के सामने भी उन्होंने यही कहा था कि उन्हें काफी कर्ज हो गया है। नोटबंदी और जीएसटी के चलते उनका कारोबार बर्बाद हो गया है. प्रकाश पांडे ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को भी नाकामयाब मुख्यमंत्री बताते हुए कहा था कि वे जनता की बात नहीं सुनते।

हालांकि प्रकाश पांडे की मौत के बाद उत्तराखंड सरकार बचाव की मुद्रा में आ गई है। प्रकाश पांडे जब 7 जनवरी को गंभीर हालत में थे तो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत उन्हें देखने मैक्स अस्पताल पहुंचे थे और अब उनकी मौत के बाद मुख्यमंत्री ने दुख जताया कि हमने उनको बचाने की हर कोशिश की थी, मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका।

ट्रांसपोर्टर प्रकाश पाण्डे की मौत पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कांग्रेसियों ने फूंका मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का पुतला

ट्रांसपोर्ट व्यवसायी प्रकाश पांडे की मौत पर कांग्रेसियों ने भारी आक्रोश व्यक्त किया और हल्द्वानी के तिकोनिया चौराहे पर विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ—साथ आम लोगों ने प्रकाश पांडे की मौत को भाजपा सरकार द्वारा की गई हत्या करार देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का पुतला फूंका। हल्द्वानी के डीएम दीपेंद्र चौधरी और एसएसपी जनमेजय खण्डूरी भी प्रकाश पांडे के घर परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे। 

संबंधित खबर : उत्तराखण्ड में जहर खाकर मंत्री के सामने पहुंचा कारोबारी, कहा जीएसटी-नोटबंदी ने कर दिया है बर्बाद