'मां' के नाम पर कलंक आश्रय गृह की संस्थापक डॉ. रचना भारतीय

पीड़ित बच्चियों ने बताया जब रचना ‘मां’ नहीं होती थीं घर पर, तब उनके पति ओमप्रकाश उर्फ राजू भारतीय करते थे उनका जबरन बलात्कार…

रतलनाम। पिछले साल जुलाई में मुजफ्फरपुर बालिका गृह में 42 बच्चियों के साथ हुए दर्दनाक बलात्कार की है​वानियत अभी सबकी जेहन में ताजा ही होगी कि वैसा ही एक मामला मध्य प्रदेश के रतलाम जनपद स्थित जावरा कुंदन कुटीर बालिका गृह से सामने आया है।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक 24 जनवरी को कुंदन कुटीर बालिका गृह से 5 बच्चियां खिड़की तोड़कर किसी तरह भागने में कामयाब हुईं। इन बालिकाओं ने मजिस्ट्रियल जांच में बताया है कि बालिका गृह की संस्थापिका रचना भारतीय शराब पीकर नाबालिग बच्चियों की पिटाई करती थी और उसका पति जबरन हैवानियत पर उतरकर बच्चियों का बलात्कार करता था।

रतलाम कलेक्टर रुचिका चौहान के मुताबिक बच्चियों की शिकायत के बाद 31 जनवरी को बालिका गृह की संस्थापिका, पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान बाल कल्याण समिति अध्यक्ष डॉ. रचना भारतीय, उसके पति ओमप्रकाश भारतीय, वर्तमान अध्यक्ष संदेश जैन, सचिव दिलीप बरैया को गिरफ्तार कर जांच की जा रही है। वहीं बालिका आश्रय गृह को ताला लगाया जा चुका है।

कहा जा रहा है कि दिखावे के लिए रचना भारतीय के आश्रय गृह में लावारिस मिलीं, कहीं से भाग कर आईं परेशान व भटकी हुई ​बच्चियों को बाल कल्याण समिति के आदेश पर कुंदन कुटीर बालिका गृह में रखा जाता था। दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक अब तक कुंदन कुटीर में 158 बच्चियों को रखा जा चुका है, जो उसे रचना ‘मां’ कहती थीं। यहां उनके रहने, भोजन-पानी तथा शिक्षा सहित तमाम देखरेख की व्यवस्था है। इन व्यवस्थाओं के लिए शासन अनुदान देता है और जनसहयोग मिलता है। इस खुलासे के बाद शहर के लोग हैरत में हैं क्योंकि इससे पहले रचना भारतीय के काम को बड़े सम्मान के साथ देखा जाता था।

पीड़ित बच्चियों के मुताबिक उनकी यह रचना मां जब घर पर नहीं होती थीं, तब उनके पति ओमप्रकाश उर्फ राजू भारतीय उनका जबरन बलात्कार करते थे। तहसीलदार सीएल टांक की तरफ से दर्ज करवाई गई एफआईआर में बच्चियों के बलात्कार और अन्य तरह के शो​षण के लिए जिम्मेदार आरोपियों पर कई धाराएं लगाई गईं हैं।

बकौल कलेक्टर रुचिका चौहान जांच में ही यह सामने आया है कि बालिका गृह की संस्थापक रचना भारतीय शराब पीकर बालिकाओं से गलत व्यवहार और मारपीट करती थीं। उनके पति ओमप्रकाश भारतीय बालिकाओं का बलात्कार करते थे। बालिकाओं का मेडिकल कराया गया है। एक लड़की पहले से प्रेग्नेंट है। बालिका गृह को सील कर रिकॉर्ड जब्त कर लिया गया है। अब मामले की विस्तृत जांच की जाएगी। गौरतलब है कि एक साल पहले बाल कल्याण समिति अध्यक्ष बनने के बाद रचना भारतीय ने बालिका गृह के अध्यक्ष का पद छोड़ दिया था।

बच्चियों का शोषण राजनीतिक आकाओं के आशीर्वाद से धड़ल्ले से किया जा रहा था। गौरतलब है कि बालिका गृह की संस्थापिका डॉ. रचना भारतीय कांग्रेस नेता स्व. कुंदनमल भारतीय जोकि पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष रहे थे, की बहू हैं। बच्चियों का बलात्कार करने वाला ओमप्रकाश उर्फ राजू भारतीय जो कि रचना भारतीय का पति और कांग्रेस नेता स्व. कुंदनमल भारतीय का बेटा है, ब्याज पर पैसे बांटने का काम करता है।

वहीं बालिका आश्रय गृह के वर्तमान अध्यक्ष संदेश जैन पूर्व भाजयुमो नगर महामंत्री और भाजपा नेता है। साथ ही स्टोन क्रेशर का काम भी करता है। इस मामले में संदेश जैन को सह आरोपी बनाया गया है। कहा जा रहा है कि संदेश जैन सिर्फ दिखावे का अध्यक्ष है, वह सिर्फ डॉ. रचना भारतीय के रबर स्टाम्प के रूप काम करता रहा है।

संबंधित खबर : मुजफ्फरपुर कांड : टैबलेट खिलाकर होता था बलात्कार, होश आने पर नहीं रहते थे बच्चियों के शरीर पर कपड़े

वहीं आश्रय गृह का सचिव दिलीप बरैया भाजयुमो नेता और आरएसएस का सक्रिय कार्यकर्ता होने के साथ—साथ ज्वैलरी व्यापारी है। दिलीप बरैया समाजसेवी एवं मीसाबंदी राजमल बरैया का सुपुत्र भी है।


जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism


Facebook Comment