Last Update On : 20 06 2018 05:01:48 PM

मोदी कैबिनेट के मंत्री पीयूष गोयल ने घेरा विपक्ष को तो राधिका वेमुला बोलीं नहीं किया गया मेरा राजनीतिक इस्तेमाल, मोदी के खिलाफ किसी के इशारे पर नहीं अपनी मर्जी से दिया था बयान, आगे भी जरूरत पड़ी तो ऐसा करूंगी….

दिल्ली, जनज्वार। हैदराबाद यूनिवर्सिटी के शोध छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या की घटना ने पूरे देश को झकझोर कर ​रख दिया था। इसके बाद उनके परिवार को इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने आर्थिक सहायता देने की बात कही थी, जो वादा रोहित की मौत के दो साल भी पूरा नहीं हो पाया है। यह बात मीडिया से खुद रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला ने साझा की।

इसे लेकर रोहित वेमुला की मां का हाल ही में मीडिया में बयान आ रहा था कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने दो साल पहले उनसे पैसे देने का जो वादा किया था वह पूरा नहीं किया। पार्टी ने राजनीतिक लाभ लेने के लिए मेरा भरपूर इस्तेमाल किया। मुझे जगह—जगह मंच पर ले जाकर खड़ा किया गया, हमें कहा गया कि तुम्हें घर बनाने के ​लिए 20 लाख की सहायता देंगे, जो अभी तक नहीं दी गई है। मैं दो साल से 20 लाख के चैक का इंतजार कर रही हूं। मुझे ऐसी हालत में केरल की रैलियों में ले जाया गया, जब मेरी बहू को बच्चा होने वाला था।

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक रोहित वेमुला के परिजनों को मकान बनाने के लिए विजयवाड़ा और गुंटूर के बीच पड़ने वाली एक जगह कोप्पूरावुरू में जमीन देने का वादा भी किया गया था।

राधिका के इस बयान के बाद राजनीतिक आरोपों—प्रत्यारोपों का दौर शुरू हो गया है। हालांकि इस पर राजनीतिक सरगर्मियां तेज होतीं देख अब राधिका वेमुला ने अपने बयान पर सफाई देनी शुरू कर दी है। उन्होंने कहा है कि मुस्लिम लीग ने पैसे देने वादा किया था, लेकिन उन्होंने मेरा राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल कभी नहीं किया।

राधिका वेमुला ने सफाई देते हुए कहा कि, यह सच है इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने पैसे देने का वादा किया था, लेकिन उन्होंने राजनीतिक फायदे के लिए मेरा इस्तेमाल नहीं किया। जहां तक मंचों से प्रधानमंत्री के खिलाफ बोलने की बात है वह उन्होंने किसी के इशारे पर नहीं बल्कि अपनी इच्छा से बोला था और जरूरत पड़ी तो वो आगे भी ऐसा करेंगी।

एएनआई में आई खबर के मुताबिक राधिका वेमुला ने कहा, मुस्लिम लीग ने उन्हें 2.5 लाख रुपए के दो चेक भेजे थे इसमें से एक चेक बाउंस हो गया। हम लोगों ने इसकी जानकारी उन्हें दे दी थी। इसके बाद मुस्लिम लीग ने कहा था कि हम पैसे आपको सीधे तौर पर मुहैया कराएंगे, जिससे आप घर खरीद सकें, मगर वह पैसा नहीं मिला है।

गौरतलब है कि 2016 में रोहिल वेमुला की आत्महत्या करने के बाद केरल की राज्यस्तरीय पार्टी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला को घर खरीदने के लिए 20 लाख रुपए देने का वादा किया था। रोहित की मां ने हाल ही में बयान दिया था कि उन्हें अब तक पैसे नहीं मिले हैं। मुस्लिम लीग पार्टी ने राजनीतिक लाभ लेने के लिए मेरा इस्तेमाल किया है। ये वादा राधिका वेमुला से उस वक्त किया गया था जब मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन और अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि उनसे मिलने गए थे। गौरतलब है कि रोहित वेमुला खुद भी अंबेडकर स्टूडेंट एसोसिएशन का सदस्य था।

जैसे ही राधिका वेमुला का यह बयान सामने आया कि मुस्लिम लीग ने उन्हें धोखा दिया है, भाजपा के नेताओं को विपक्ष को घेरने का जैसे एक बहाना मिल गया। मोदी सरकार के कैबिनेट मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मुस्लिम लीग ने वेमुला की मां राधिका को 20 लाख रुपए देने का झूठा वादा किया था। बदले में उनसे कहा गया कि वे लीग की रैलियों में पहुंचे और सुसाइड केस को गलत तरीके से पेश करने के लिए बयान दें।

मुस्लिम लीग ही नहीं गोयल ने इस मसले पर कांग्रेस को भी जमकर लताड़ लगाई। पीयूष गोयल ने बयान देते हुए कहा, ‘मुझे इस बात की जानकारी मिली है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रोहित वेमुला के परिवार को मंच पर बुलाया और बयान देने के लिए कहा। ये बात सामने आना चाहिए कि ऐसा करने के पीछे उनकी क्या मंशा थी। राहुल को झूठ की बुनियाद पर ओछी राजनीति करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।’

गोयल ने कहा, एक बच्चे की मौत को राजनीतिक फायदे के लिए कुछ विपक्षी दल इस्तेमाल करते हैं, लेकिन अब जब अखबार में रोहित वेमुला की मां का बयान पढ़ा तो उनका मन बहुत दुखी हुआ। गोयल ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाते हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि रोहित वेमुला के घर में किसी को बच्चा होने वाला था, ऐसे वक्त में वेमुला की मां को घर पर रहना बेहद जरूरी था, लेकिन लालच देकर दुखी मां को जबरदस्ती केरल बुला लिया गया और उनसे रैलियां कराई गईं। ये बहुत ही घिनौनी हरकत है।