Last Update On : 23 10 2017 01:14:00 PM

शिक्षक के डांटने पर केरल में दसवीं का एक छात्रा इतनी बुरी तरह आहत हो गयी कि उसने इमारत से कूदकर जान दे दी…

केरल। केरल के कोल्लम जनपद के एक स्कूल में दसवीं की छात्रा 20 अक्तूबर को दिन के लगभग डेढ़ बजे अपने स्कूल की इमारत से कूद गई। तुरंत इलाज के लिए पहले उसे कोल्लम के ही एक अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां से डॉक्टरों ने उसकी गंभीर हालत को देखते हुए तिरूवनंतपुरम रेफर कर दिया था।

इलाज के दौरान तिरूवनंतपुरम के एक प्राइवेट अस्पताल में आज सुबह गौरी की मौत हो गई।

मृतक छात्रा के परिजनों ने आरोप लगाया है कि उसे शिक्षकों द्वारा लगातार परेशान किया जा रहा था। उसके साथ मारपीट की जाती थी। यही नहीं उसे क्लास में बात करने पर तक दंडित किया जाता था, जिससे आहत होकर उसने स्कूल बिल्डिंग की तीसरी मंजिल से कूदकर अपनी जान ले ली।

पढ़ाई में औसत पंद्रह वर्षीय गौरी की मौत के मामले में परिजनों का यह भी कहना है कि उसके दो शिक्षकों ने उसे बुरी तरह डांटा था, जिससे आहत होकर वो तीसरे माले पर जाकर कूद गई।

इंडिया टूडे में प्रकाशित खबर के मुताबिक परिजनों ने शिक्षकों पर आरोप लगाया है कि छात्रा को बतौर सजा लड़कों के साथ बिठा दिया जाता था।

छात्रा की मौत के मामले में पुलिस ने परिजनों के बयान के आधार पर आरोपी शिक्षकों सिंधू और क्रिसेंट के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर लिया है।