Last Update On : 25 12 2017 03:00:00 PM

जिस्म की सबसे बड़ी दलाल फिर एक बार पुलिस की गिरफ्त में…

दिल्ली। दिल्ली की लेडी डॉन के नाम से कुख्यात रही सोनू पंजाबन फिर से एक बार पुलिस कस्टडी में है। अपराध वही पुराना, सेक्स रैकेट चलाने के लिए फिर से धरी गई। 40 साल की गीता अरोड़ा उर्फ सोनू पंजाबन को पुलिस ने इस बार सलाखों के पीछे किया है, क्योंकि जुर्म नाबालिग से जुड़ा हुआ है। आरोप है कि सोनू पंजाबन ने 13 साल की किशोरी को कई लोगों को बेचकर उससे जबरन वेश्यावृत्ति कराई।

सोनू पंजाबन पर एक 13 साल की नाबालिग लड़की को जबर्दस्ती वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेल उससे धंधा कराने का आरोप है। यह आरोप किसी और ने नहीं, बल्कि पीड़ित लड़की ने खुद लगाया है। गौरतलब है कि सोनू पंजाबन पर मकोका के तहत आरोप लगाए गए हैं। 2014 में वह तिहाड़ से छूटकर बाहर आई थी। तब बाद भी सोनू पंजाबन सुधरी नहीं और बाहर आकर उसने फिर वेश्यावृत्ति को अपना धंधा बना लिया। मासूम और लाचार लड़कियों को टारगेट बना वह उनसे धंधा करवाने लगी। इस बार भी जब शनिवार 23 दिसंबर को उसे अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया तो उसने खूब हंगामा काटा।

इस मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अगस्त 2014 में सोनू पंजाबन के तिहाड़ से बाहर निकलने के बाद एक 13 वर्षीय लड़की रहस्यमय तरीके से गीता कॉलोनी के अपने घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने बच्ची के गायब होने की रिपोर्ट नजफगढ़ थाने में दर्ज कराई थी, मगर उसका कुछ पता नहीं चला। 4 साल की जांच के बाद भी रहस्यमय तरीके से गायब लड़की का पता लगाने में पुलिस नाकाम रही तो वर्ष 2017 के शुरुआती महीनों में जांच अपराध शाखा को सौंप दी गई।

इसी बीच जून 2017 में गायब लड़की खुद—ब—खुद घर वापस आ गई, मगर उसने जो सच बयां किया उससे परिजनों के होश फाख्ता हो गए। पीड़ित लड़की ने बताया कि जब वह अपने घर से कहीं जा रही थी तो दो लड़के जबरन उसे अगवा कर ले गए और एक महिला के पास सौंप दिया। उस महिला ने लड़की से काफी समय तक वेश्यावृत्ति करवाई और बाद में उसे एक दलाल के हाथों बेच दिया गया।

दलाल ने भी उसे इसी धंधे में धकेला। जब इसी बीच वह प्रेग्नेंट हो गई तो उसका जबरन गर्भपात करवाने की कोशिश की गई। इसी बीच किसी तरह पीड़िता वहां से भागने में सफल हुई और अपने घर पहुंची।

लड़की ने उसे अगवा करने के बाद जिस महिला के पास ले जाया गया था उसका हुलिया बताया और फोटो दिखाई तो उसने तुरंत पहचान लिया। वह सेक्स रैकेट सरगना सोनू पंजाबन थी, जिसने न जाने कितनी मासूम लड़कियों को जहन्नुम में धकेला। लड़की की शिकायत के बाद सोनू पंजाबन की छानबीन शुरू की गई और उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया है कि 16 साल पहले देह व्यापार के धंधे में कदम रखने वाली सोनू पंजाबन के दिल्ली ही नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भी देह व्यापार के कई ठिकाने हैं। पहली बार हुई खूब बदनामी के कारण उसने इस बार दक्षिणी दिल्ली के सैद्दुलाजाब में आलीशान फ्लैट खरीदकर रहना शुरू कर दिया था और वहीं से वह वेश्यावृत्ति करती—करवाती थी।

इस बार सोनू पंजाबन पर सेक्स रैकेट चलाने के साथ साथ अपहरण, पॉस्को और आपराधिक षडयंत्र के मामले भी दर्ज किए गए हैं। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक सोनू के खिलाफ साल 2011 में दिल्ली के महरौली, 2008 में प्रीत विहार और 2005 में हरियाणा के बहादुरगढ़ में केस दर्ज हो चुका है। इससे पहले भी सोनू पंजाबन सेक्स रैकेट चलाने के लिए कई बार गिरफ्तार हो चुकी है। सोनू तब मीडिया की सुर्खियां बनी थी जब इच्छाधारी बाबा भीमानंद के सेक्स रैकेट का खुलासा हुआ था।

फर्राटेदार अंग्रेजी और वेस्टर्न लुक में रहने वाली सोनू खूबसूरती में किसी हीरोइन से कमतर नहीं है। उसने ब्यूटी पार्लर की आड़ में जिस्म का धंधा शुरू किया था। शुरुआत में वह खुद कॉलगर्ल का काम करती थी, धीरे—धीरे और लड़कियों को अपने जाल में फंसाना शुरू कर दिया।

सोनू के बारे में एक बार और कही जाती है कि जिसने भी उससे प्रेम किया वह जिंदा नहीं बचा। दिल्ली में चलने वाले तकरीबन 1000 करोड़ रुपये के जिस्मफरोशी के धंधे को संचालित करने वाली सोनू 2011 में क्रिकेट विश्व कप फाइनल से एक दिन पहले भी चर्चा में आई थी।

विश्वकप के रोमांच के बीच फार्म हाउसों और होटलों में क्रिकेट से जुड़ी पार्टियों के कारण शहर में जिस्मफरोश लड़कियों की मांग काफी बढ़ी हुई थी। सोनू पंजाबन हर दलाल के वहां लड़कियां सप्लाई करती थी, तो इस बीच वेश्यावृत्ति करवाते—करवाते वह खुद पुलिस के जाल में फंस गई। हालांकि सोनू को कभी अपना यह जुर्म जुर्म लगा ही नहीं, तभी तो वह जब—जब गिरफ्तार हुईं, कभी मुंह तक नहीं छुपाया। उल्टा मॉडलों की तरह पोज देती नजर आईं।

तब सोनू के साथ जिन पांच लड़कियों को गिरफ्तार किया गया था, वे संपन्न घरों से ताल्लुक रखती थीं। इतना ही नहीं कुछ टेलीविजन स्टार भी जिस्मफरोशी के धंधे में सोनू पंजाबन के संपर्क में थीं। सोनू के ग्राहकों में उद्योगपतियों, राजनेताओं से लेकर कई बड़े—बड़े नाम शामिल रहे हैं।