Last Update On : 02 08 2018 03:32:12 PM

सुनने में यह सांतवें आश्चर्य जैसा लगता है पर वीडियो देख सच पता चलता है। राष्ट्रगान बजने पर शहर का हर आदमी सबकुछ छोड़ एक साथ सावधान की अवस्था में खड़ा हो जाए, यह एक आश्चर्यजनक और बनावटी बात लगती है पर इस खास तरह के अनुशासन को कोई शहर अपना सकता है, यह रोचक भी है और जानने लायक भी…

जनज्वार। सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रगान को लेकर आदेश दिया था कि किसी भी सिनेमा हॉल से फिल्म शुरू होने से पहले इसे अनिवार्य किया जाए। मगर बाद में लोगों के विरोध को देखते हुए और यह तर्क देते हुए कि जबरन किसी पर देशभक्ति नहीं थोपी जा सकती कोर्ट ने अपना यह आदेश बदल दिया था।

एक पलड़े में राष्ट्रगान को लेकर उठा यह विवाद है, वहीं दूसरी तरफ भारत में ही एक ऐसा भी शहर है जहां सुबह पूरा शहर राष्ट्रगान के लिए थम जाता है। आप कल्पना कीजिए कि ​जो जिस हाल में होता है वह वहीं थम जाता है। ट्रैफिक तक जहां—तहां स्थिर हो जाता है उतने वक्त के लिए।

जी हां, यह शहर है तेलंगाना का जमीकुनटा शहर। हैदराबाद से तकरीबन 150 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस छोटे से शहर की खूबी ही यही है कि यहां रोज सुबह राष्ट्रगान के लिए पूरा शहर एक साथ थम जाता है।

शहर में एक साथ 16 लाउडस्पीकर पर बजने वाले राष्ट्रगान के सम्मान में दुकान में काम करते, सड़क पर चलते लोग जहां हैं, वहीं खड़े हो जाते हैं। सोशल मीडिया पर इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें लोग सुबह के समय सड़क पर राष्ट्रगान का खड़े होकर अभिवादन कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर वहां का वीडियो शेयर करते हुए हरपाल सिंह भाटिया लिखते हैं, तेलंगाना के एक शहर जिसका नाम है जमीकुनटा जो हैदराबाद से केवल 145 कि.मी कि दूरी पर है। इस छोटे से शहर कि खासियत यह है कि 16 लाउडस्पीकर पर रोज सुबह राष्ट्र गान लगाया जाता है कस्बे के सारे शहरी अपने-अपने स्थान पर खड़े होकर अभिवादन करते हैं, सेल्यूट।

सालों से इस छोटे से शहर की खासियत है कि पूरे शहर के अलग अलग स्थानों पर 16 लाउडस्पीकर से रोज सुबह राष्ट्रगान बजाया जाता है। उस दौरान कस्बे के सारे लोग जो जहां होता है वहीं खड़े होकर राष्ट्रगान का अभिवादन करते हैं। खासियत यह भी है कि ट्रैफिक पुलिस से लेकर बस चालक, ऑटो चालक, राहगीर तक उस दौरान जिस जगह होते हैं, उसी जगह खड़े हो जाते हैं। यानी तकरीबन तीन मिनट के लिए पूरा शहर जैसे राष्ट्रगान के लिए थम जाता है।