Last Update On : 28 02 2018 09:18:00 PM

एसएससी पेपर लीक मामले में दिल्ली में हजारों छात्रों का प्रदर्शन, लेकिन मीडिया को नहीं मिली बाथ टब पत्रकारिता से फुरसत…

दिल्ली, जनज्वार। एसएससी की परीक्षा देने वाले हजारों अभ्यर्थी कर्मचारी चयन आयोग एसएससी परीक्षा में हुए पेपर लीक मामले की सीबीआई जाँच की मांग कर रहे हैं। सीबीआई जांच करवाये जाने को लेकर ये छात्र सीजीओ कॉम्प्लैक्स स्थित कर्मचारी चयन आयोग के मुख्यालय पहुंचे और वहां धरना प्रदर्शन आयोजित किया।

छात्रों के इस आंदोलन में भागीदारी करते हुए स्वराज इंडिया पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने युवाओं के भविष्य के प्रति सरकार को पूरी तरह असंवेदनशील बताते हुए कहा कि छात्रों के सामूहिक भविष्य से ही देश का भविष्य उज्ज्वल बनेगा। इसलिए ये लड़ाई देश के भविष्य के लिए है और इस संघर्ष में ऊर्जा लगाने वाले युवा ही असल राष्ट्रवादी हैं।

गौरतलब है कि कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित सीजीएल 2017 के टियर 2 की परीक्षा के प्रश्नपत्र और पेपर लीक लीक हो गए थे। छात्रों का कहना है कि परीक्षा में हुई धांधली और पेपर लीक का मुख्य कारण कर्मचारी चयन आयोग में व्याप्त भ्रष्टाचार है। युवा अभ्यर्थी सरकार से मांग कर रहे हैं इस मामले की निष्पक्ष सीबीआई जाँच करवाकर वह अभ्यर्थियों के साथ न्याय करे। पीड़ित छात्रों के मुताबिक उनके पास परीक्षा पेपर लीक मामले के सारे सबूत मौजूद हैं, इसीलिए वे इतने बड़े पैमाने पर इसका विरोध कर रहे हैं।

सीबीआई जांच की मांग के लिए प्रदर्शन कर रहे हजारों एसएससी अभ्यर्थी 

स्वराज इंडिया ने पेपर लीक मामले की जांच के लिए सरकार से आह्वान कर रहे युवाओं से किसी भी उकसावे में आये बिना धैर्य बनाये रखने की अपील की और भरोसा दिलाया कि स्वराज इंडिया उनके इस संघर्ष में हर मोर्चे पर उनके साथ खड़ा रहेगा।

छात्रों के भविष्य से जुड़े इतने बड़े मुद्दे को मीडिया द्वारा दरकिनार कर देने के मसले पर स्वराज इंडिया के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने ट्वीट किया है, ‘हज़ारों छात्र एसएससी कार्यालय पर प्रदर्शन कर रहे हैं। पेपर लीक की सीबीआई जाँच की मांग कर रहे हैं। लेकिन न ही मीडिया को अपनी बाथ-टब पत्रकारिता से फ़ुर्सत है, न ही सरकार को युवाओं के प्रति संवेदना है। क्या सरकार युवाओं की सुनवाई करेगी या सत्ता के घमंड में इस मुद्दे को भी नकार देगी?’