Last Update On : 12 11 2018 10:13:50 AM

शरीर में कैंसर का संक्रमण फैल चुका था बहुत ज्यादा, दोबारा हालत इतनी ज्यादा बिगड़ चुकी थी कि रखा गया था वेंटिलेटर पर….

जनज्वार। मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का आज सुबह तड़के बेंगलुरु में 4 बजे कैंसर की बीमारी के बाद निधन हो गया। ​वे पिछले कई महीनों से कैंसर से पीड़ित थे, जिसका उपचार चल रहा था।

पिछले महीने अक्टूबर में कैंसर का पता चलने के बाद अनंत कुमार इलाज के लिए न्यूयॉर्क गए थे। दोबारा तबीयत बिगड़ने पर उन्हें बेंगलुरु के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था दोबारा उनकी हालत इतनी ज्यादा बिगड़ चुकी थी कि उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। अंनत कुमार के निधन पर कर्नाटक सरकार ने राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

संयुक्त राष्ट्र में कन्नड़ में भाषण देने वाले अनंत कुमार पहले शख्स थे। कर्नाटक में बीजेपी को मजबूती प्रदान करने में भी अनंत कुमार का खासा योगदान रहा है।

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण समेत देशभर के कई नेताओं, अभिनेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शोक व्यक्त किया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके निधन के बाद ट्वीट किया, ‘केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के निधन के बारे में सुनकर मुझे दुख हुआ। उनका जाना देश और खासकर कर्नाटक के लोगों के लिए बड़ा झटका है। उनके परिवार, सहकर्मी और उनसे जुड़े अनगिनत लोगों के साथ मेरी संवेदना है।’

प्रधानमंत्री मोदी ने अनंत कुमार के निधन पर शोक प्रकट करते हुए ट्वीट किया, ‘मैं अपने महत्त्वपूर्ण साथी एवं मित्र के निधन से बेहद दुखी हूं। वे असाधारण नेता थे, जो युवावस्था में ही सार्वजनिक जीवन में आए और काफी लगन और सेवा भाव से समाज की सेवा की।’

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अनंत कुमार की मौत पर शोक जताते हुए कहा, “अनंत कुमार के निधन की खबर सुनकर बेहद दुख हुआ। उन्होंने भाजपा की लंबे अरसे तक सेवा की। बेंगलुरु उनके दिल और दिमाग में हमेशा रहा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिवार को साहस दे।”

अनंत कुमार के निधन पर केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से बयान जारी किया गया है कि अनंत कुमार के निधन पर आज देशभर में राष्ट्रध्वज आधा झुका रहेगा।

अनंत कुमार के पास मोदी सरकार में दो मंत्रालयों की जिम्मेदारी थी। वे 2014 से रसायन एवं उर्वरक मंत्री थे। इसके अलावा जुलाई 2016 से संसदीय मामलों के मंत्री का कार्यभार भी संभाल रहे थे।

1996 से बेंगलुरु दक्षिण से लोकसभा के सदस्य रहे अनंत कुमार का जन्म 22 जुलाई 1959 को बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने केएस ऑर्ट कॉलेज हुबली से बीए किया और उसके बाद जेएसएस लॉ कॉलेज से एलएलबी की डिग्री ली थी। उनके परिवार में पत्नी तेजस्विनी, दो बेटियां ऐश्वर्या और विजेता हैं।