Top
राष्ट्रीय

भाजपा में शामिल होंगे सचिन पायलट? खास सहयोगी ने किया बड़ा खुलास

Janjwar Desk
13 July 2020 9:42 AM GMT
भाजपा में शामिल होंगे सचिन पायलट? खास सहयोगी ने किया बड़ा खुलास
x
राजस्थान में डिप्टी सीएम सचिन पायलट की तरफ से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद प्रदेश सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। हालांकि सीएम अशोक गहलोत और उनके समर्थकों का कहना है कि सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल है और सरकार पूरी तरह सुरक्षित है...

जनज्वार। राजस्थान में डिप्टी सीएम सचिन पायलट की तरफ से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद प्रदेश सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे हैं। हालांकि सीएम अशोक गहलोत और उनके समर्थकों का कहना है कि सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल है और सरकार पूरी तरह सुरक्षित है। सोमवार को कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला भी जयपुर पहुंचे और सचिन पायलट से अपील करते हुए कहा कि वो वापस लौट आएं, जो भी मतभेद हैं उन्हें बैठकर सुलझाया जाएगा। इस बीच सचिन पायलट के भाजपा में शामिल होने की अटकलों पर उनके एक करीबी सहयोगी ने कहा है कि पायलट भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं होंगे।

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, सचिन पायलट के एक बेहद करीबी सहयोगी ने बताया कि डिप्टी सीएम भाजपा में शामिल नहीं हो रहे हैं और ना ही विपक्षी पार्टी के साथ किसी तरह की मुलाकात की उनकी कोई योजना है। हालांकि जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर बुलाई गई विधायक दल की बैठक में सचिन पायल शामिल नहीं हुए। बताया जा रहा है कि इस बैठक में कांग्रेस के 90 से ज्यादा विधायक शामिल हुए हैं।

सचिन पायलट के सहयोगी ने कहा, 'जिस समय विधानसभा का कोई सत्र नहीं चल रहा है, उस समय मुख्यमंत्री का इस तरह व्हिप जारी करना नियमों के खिलाफ है। इसके अलावा मुख्यमंत्री के घर पर बैठक के लिए व्हिप कैसे जारी किया जा सकता है।' गौरतलब है कि रविवार देर रात सचिन पायलट के दफ्तर से एक बयान जारी करते हुए कहा गया कि प्रदेश की गहलोत सरकार अल्पमत में है और पायलट के पास 30 विधायकों का समर्थन है। इसके कुछ देर बाद कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि राज्य के 109 विधायकों ने अपने समर्थन का पत्र मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपा है।

आपको बता दें कि राजस्थान कांग्रेस की तरफ से सभी विधायकों को सोमवार को विधायक दल की बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने के लिए एक व्हिप जारी किया गया था। कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा था कि बिना किसी कारण के गैरहाजिर रहने वाले विधायक के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले शनिवार को सीएम अशोक गहलोत ने आरोप लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी उनकी सरकार को गिराने की साजिश रच रही है।

वहीं, सचिन पायलट के एक करीबी नेता का कहना है कि पायलट ने पार्टी के राज्य प्रभारी अविनाश पांडे, कांग्रेस संगठन सचिव केसी वेणुगोपाल और दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के सामने कई बार अशोक गहलोत की कार्यप्रणाली को लेकर शिकायत की थी, लेकिन उनकी शिकायत पर कोई ध्यान ही नहीं दिया गया। आपको बता दें कि राजस्थान में चल रहा सियासी संकट उस वक्त शुरू हुआ, जब राज्य की कांग्रेस सरकार को गिराने के मामले में राजस्थान पुलिस के एसओजी ने अपना बयान दर्ज कराने के लिए सचिन पायलट को नोटिस भेजा।

Next Story

विविध

Share it