Top
बिहार चुनाव 2020

बिहार चुनाव: अपनी मांगों को लेकर कई गांवों ने किया मतदान का बहिष्कार, अधिकारी मनाने में जुटे

Janjwar Desk
7 Nov 2020 10:51 AM GMT
बिहार चुनाव: अपनी मांगों को लेकर कई गांवों ने किया मतदान का बहिष्कार, अधिकारी मनाने में जुटे
x
अररिया में हाथों में वोटर कार्ड लेकर लोगों ने मतदान के बहिष्कार की हुंकार भरी, ये लोग लंबे समय से पुल के निर्माण की मांग कर रहे हैं, वहीं अधिकारी मतदाताओं को मनाने में जुटे हुए हैं....

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के अंतिम चरण के लिए मतदान जारी है। दोपहर तीन बजे तक 45.85 प्रतिशत मतदान हुआ है। इस बीच खबर ये भी है कि तीसरे चरण में कई मतदान केंद्रों पर लोगों ने अपनी मांगों को लेकर हाथों में वोटर कार्ड लिए मतदान का बहिष्कार किया।

खबरों के मुताबिक अररिया में हाथों में वोटर कार्ड लेकर लोगों ने मतदान के बहिष्कार की हुंकार भरी। ये लोग लंबे समय से पुल के निर्माण की मांग कर रहे हैं। चुनाव की तारीख की घोषणा होते ही इन लोगों ने अपनी आवाज बुलंद करते हुए ऐलान किया कि वह मतदान का बहिष्कार करेंगे। वहीं दूसरी ओर अधिकारी उन्हें किसी तरह मनाने में लगे हुए हैं।

अररिया के अलावा कदवा प्रखंड के मतदान केंद्रों पर 14 बूथों पर लोगों ने वोट का बहिष्कार किया। यहां के लोग झौआ व मीनापुर में रेलवे पर समपार फाटक की लगातार मांग कर रहे हैं।

बहादुरपुर विधानसभा क्षेत्र की कुशोत्थर पंचायत के लोग गांव में हाईस्कूल बनाने की मांग कर रहे हैं, इसलिए उन्होंने वोट का बहिष्कार किया है। पंचायत के चार बूथों पर 11 बजे तक कोई भी मतदाता वोट डालने नहीं पहुंचा था।

उधर डीएम. त्यागराजन एसएम ने एडीएम व शिक्षा विभाग के अधिकारियों को उक्त पंचायत में भेजा है। अररिया के रानीगंज प्रतिनिधि के मुताबिक रानीगंज विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं ने 'पुल नहीं तो पानी नहीं' का नारा देते हुए मतदान का बहिष्कार किया है। ये सभी मतदाता प्राथमिक विद्यालय बैजनाथपुर पूरब बूथ संख्या 267 व 268 के हैं। कुछ महिलाएं वोट डालने जा रही थी जिसे अन्य ग्रामीणों ने रोक दिया। फिर फरियानी नदी के किनारे पनभरनी घाट पर सैकड़ों की संख्या में लोग जमा होकर वोट का बहिष्कार करने लगे।

Next Story
Share it