बिहार चुनाव 2020

बिहार : नीतीश मुक्त सरकार के लिए जिन सीटों पर लोजपा के नहीं हैं उम्मीदवार, चिराग पासवान ने वहां भाजपा के लिए मांगा वोट

Janjwar Desk
26 Oct 2020 2:44 AM GMT
बिहार : नीतीश मुक्त सरकार के लिए  जिन सीटों पर लोजपा के नहीं हैं उम्मीदवार, चिराग पासवान ने वहां भाजपा के लिए मांगा वोट
x
चिराग पासवान नीतीश कुमार पर लगातार हमलावर हैं। वे नीतीश मुक्त सरकार बनाने के लिए लोजपा और जहां लोजपा के उम्मीदवार नहीं हैं, वहां भाजपा को वोट देने की अपील कर रहे हैं। उनके इस तरह वोट मांगने से यह धारणा कायम है कि परदे के पीछे भाजपा-लोजपा में डील है...

जनज्वार। भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए का हिस्सा लोक जन शक्ति पार्टी ने बिहार चुनाव को विचित्र मोड़ दे दिया है। लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान ने पहले चरण के मतदान से ठीक पहले यह अपील की है कि राज्य में जहां लोजपा के उम्मीदवार नहीं हैं, वहां लोग व उनके समर्थक भाजपा उम्मीदवार को वोट दें। चिराग पासवान लगातार जदयू अध्यक्ष व एनडीए के सीएम प्रत्याशी नीतीश कुमार पर हमले बोल रहे हैं।

चिराग पासवान ने ट्वीट कर कहा है कि जहां भी लोजपा के प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं उन सभी स्थानों पर बिहार फस्र्ट, बिहार फस्र्ट को लागू करने के लिए लोजपा प्रत्याशियों को वोट दें व अन्य स्थानों पर भारतीय जनता पार्टी के साथियों को वोट दें। चिराग ने कहा है कि आने वाली सरकार नीतीश मुक्त सरकार बनेगी।


इसके साथ ही एक दूसरे ट्वीट में चिराग पासवान ने लिखा कि नीतीश कुमार को प्रमाण पत्र की आवश्यकता खत्म होती नहीं दिख रही है। नीतीश कुमार को पूरे पन्ने का विज्ञापन और प्रमाणपत्र देने के लिए शुक्रगुजार होना चाहिए और जिस तरीके से भाजपा गठबंधन के लिए ईमानदार है, वैसे ही नीतीश कुमार को भी होना चाहिए।


चिराग पासवान ने बिहार की 243 सीटों में 136 सीटों पर उम्मीदवार दिया है। चिराग ने उन सभी 115 सीटों पर अपना उम्मीदवार खड़ा किया है जहां से नीतीश कुमार का जनता दल यूनाइटेड लड़ रहा है। वहीं, लोजपा ने कुछ वैसी सीटों से भी उम्मीदवार दिए हैं जहां से भाजपा के उम्मीदवार हैं।

सूत्रों का कहना है कि चिराग ने भाजपा के जिन सीटों पर उम्मीदवार दिए हैं उसके लिए उन्हें भाजपा से सहमति हासिल हुई है। यह भी कहा जा रहा है कि चिराग व भाजपा के बीच बैकडोर डील है और पूरा ताना-बाना जदयू की सीटों को कम करने और नीतीश कुमार के राजनैतिक आभा मंडल को नुकसान पहुंचाने के लिए रचा गया है। लोजपा को राष्ट्रीय स्तर पर एनडीए से बाहर नहीं किए जाने से यह धारणा और मजबूत होती है।

हालांकि भाजपा ने बाद में यह कहा था कि चिराग पासवान की पार्टी चुनाव में प्रधानमंत्री के तसवीरों का उपयोग नहीं कर सकती है और अगर वह ऐसा करेगी तो वह चुनाव आयोग में उनके खिलाफ शिकायत करेगी, फिर भी चिराग की जनसभाओं में भाजपा के झंडे दिखते हैं। रविवार को चिराग के सीतामढी व बक्सर रैली में ऐसाा दृश्य दिखा। भाजपा के प्रमुख नेताओं ने लोजपा को वोट कटवा भी बताया, लेकिन इन सब पर चिराग का कहना है कि भाजपा के नेता ऐसा नीतीश कुमार के दबाव में बोल रहे हैं।

लोजपा के प्रचार वाहन से यह भी कहा जा रहा है कि अगली सरकार बनाने के लिए लोजपा प्रत्याशियों को वोट दें और यह हर कोई जानता है कि अगली बिहार में लोजपा की अगली सरकार किसके साथ बनेगी। पार्टी के प्रचार वाहनों का इशारा भाजपा की ओर होता है।

Next Story

विविध

Share it