Top
अंधविश्वास

अंधविश्वास में अमानवीयता, ओडिशा में टोना-टोटका के शक पर युवक की पिटाई, जबरन पिलाया पेशाब

Janjwar Desk
6 July 2021 6:43 AM GMT
अंधविश्वास में अमानवीयता, ओडिशा में टोना-टोटका के शक पर युवक की पिटाई, जबरन पिलाया पेशाब
x

तंत्र-मंत्र के शक में युवक के साथ दुर्व्यवहार (सांकेतिक फोटो)

ओडिशा में अंधविश्वास में एक युवक के साथ अमानवीय व्यवहार करने की घटना सामने आयी है, जहां जादू-टोना के शक पर कुछ लोगों ने पहले उसकी पिटाई की, फिर जबरन पेशाब पिलाया गया, पीड़ित युवक को अस्पताल में भर्ती किया गया है

बोलांगीर जनज्वार। अंधविश्वास और टोने-टोटके के आरोप में एकबार फिर मानवता के शर्मसार होने की खबर है। मामला ओडिशा के बोलांगीर जिले का है। जहां जादू-टोना के आरोप में एक युवक के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। मिली जानकारी के मुताबिक, युवक की पहले बुरी तरह से पिटाई की गयी, फिर उसे जबरन पेशाब पिलाया गया। गांव के लोगों को शक था कि युवक काला जादू करता है, जिससे लोग बीमार पड़ रह हैं। इस पूरी घटना का अब वीडियो सोमवार 5 जुलाई को वायरल हुआ है। जिसके बाद पुलिस भी एक्शन में आयी है।

जादू-टोना के आरोप में पिलाया पेशाब

पूरा मामला ओडिशा के बोलांगीर जिले के एक गांव का है। जहां शनिवार 4 जुलाई को तंत्र-मंत्र, जादू-टोना करने के आरोप में एक व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार हुआ। उसे कथित तौर पर पीटा गया और पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया। खबर है कि पीड़ित युवक हादीबंधु बागरती के गांव के कुछ लोग बीमार पड़ गये थे, जिसका आरोप बागरती पर आया कि उसने टोना-टोटका किया है। इसके बाद गांव में एक बैठक हुई, जिसमें युवक को दोषी मान लिया गया।

फिर 4 जुलाई को गांव के कुछ लोग उसे घर से जबरन बाहर खींच कर लाये और उसके साथ खूब मारपीट की गयी। पिटाई के बाद उसे पेशाब पीने के लिए मजबूर किया गया। परिवार ने पुलिस को सूचना दी जिसके के बाद बगरती को अस्पताल ले जाया गया। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद यह सोमवार को मामला सामने आया।

बोलांगीर के पुलिस अधीक्षक पी नितिन कुशलकर ने कहा कि मामले को लेकर शिकायत दर्ज की गयी है। साथ ही कुछ ग्रामीणों को हिरासत में भी लिया गया है।

टोना-टोटका के नाम पर विधवा की सिर काटकर हत्या

आदिवासी बाहुल्य इन इलाकों में अंधविश्वास किस तरह से हावी है, इसका उदाहरण है कि लोग जादू-टोने के नाम पर हत्या करने से भी गुरेज नहीं करते है। युवक के साथ अमानवीयता की घटना के बाद रविवार 5 जुलाई को ओडिशा के मयूरभंज में काले जादू के नाम पर खून बहा। जहां 62 साल की एक विधवा जमुना हांसदा की निर्मम हत्या कर दी गयी। जमुना बालीभूल गांव की रहनेवाली थी। उसकी सिर कटी लाश गांव के बाहर मिली थी। लोगों ने अंधविश्वास में आकर उसकी हत्या कर दी। हांसदा के घरवालों के मुताबिक, गांव में एक शख्स की मौत होने के बाद से वो कुछ ग्रामीणों के निशाने पर थी। महिला को आखिरी बार शनिवार 4 जुलाई की शाम को देखा गया था।

वही इस मामले में करंजिया एसडीपीओ सुदर्शन गंगोई ने बताया कि महिला की सिर कटी लाश मिली है, मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पूछताछ होगी। वही महिला के सिर की तलाश की जा रही है। मामले में और भी गिरफ्तारियां होने की संभावना है। इधर मयूरभंज के पुलिस अधीक्षक स्मिथ परमार ने कहा कि पहली बार देखने पर यह जादू-टोना को लेकर की गयी हत्या का मामला लगता है, हालांकि जांच जारी है।

Next Story

विविध

Share it