अंधविश्वास

बलि के लिए उकसाते हरियाणा के नये ठग बाबा सूर्यदेव का दावा अपनी राजनीति चमकाने के लिए मोदी-योगी भी देते हैं बलि

Janjwar Desk
29 Jun 2023 10:40 AM GMT
बलि के लिए उकसाते हरियाणा के नये ठग बाबा सूर्यदेव का दावा अपनी राजनीति चमकाने के लिए मोदी-योगी भी देते हैं बलि
x
यह बाबा आए दिन ठरू गाँव व आस पास रहने वाले नये-नये आदमियो, औरतो, लड़कियों, बुजुर्गों और बच्चों को अपनी तांत्रिक विद्या और अघोरी क्रिया के जाल में फँसाकर आपराधिक काम करता है। इसने लोगों से लाखो रूपये भी हड़प रखे हैं। हर शनिवार को हिन्दू धर्म से सम्बन्धित देवी देवताओ के नाम पर जीव जन्तुओ की हत्या करके बलि चढ़ाकर उनके मांस को देवी देवताओ का प्रसाद बताकर शाकाहारी लोगो को माँसाहारी बनाता है....

सोनीपत। कुकरमुत्ते की तरह जगह जगह उग आए नए नए बाबाओं की अपार सफलता से उत्साहित हरियाणा में एक और बाबा का उदय हो रहा है। दिल्ली जल बोर्ड में कार्यरत इस नए बाबा की इसके भक्तों में लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है। तंत्र मंत्र की आड़ में अंधविश्वास फैलाने वाला यह बाबा अपनी दुकानदारी चलाने के लिए मोदी और योगी तक पर बलि देने के बकवास आरोप लगा रहा है। सोनीपत और आस पास के इलाकों की ग्रामीण आबादी को यह बाबा तांत्रिक विधि से इलाज का दावा कर जमकर लूट रहा है। इसके ऐसे इलाज की फीस इक्कीस सौ रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक बताई जा रही है। राज्य में भारतीय जनता पार्टी की खट्टर सरकार होने के बाद भी इस बाबा पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

बता दे कि देश के हिंदी भाषी राज्यों में नब्बे के दशक के बाद से अचानक कई संत बाबाओं का उदय हुआ है। इसमें से कुछ संत बाबा मानव कल्याण की बात करते हुए अपने जीवन में करनी और कथनी यथावत रखते हैं। गुजरात के प्रसिद्ध रामकथा वाचक मोरारी बापू जैसे संत इसी श्रेणी में आते हैं। लेकिन प्रवचन की आड़ में अधिकांश संत बाबा न केवल कुकर्मों को छिपा रहे हैं बल्कि अपनी हास्यापद हरकतों के कारण सनातन परम्परा का भी अहित कर रहे हैं। आसाराम बापू, डेरा सच्चा सौदा बाबा राम रहीम और चटनी चटाने वाले निर्मल बाबा इसी श्रेणी के हैं।

हरियाणा के सोनीपत जिले में इन दिनों जिस नए बाबा का उदय हो रहा है, उसका नाम है बाबा सूर्यदेव। सोनीपत के गांव ठरू उल्देपूर में इस बाबा का दरबार लगता है। इस बाबा की नजर में सभी समस्याओं का समाधान पशु बलि है। विशेषज्ञ चिकित्सक के अभाव में इस बाबा की शरण में पहुंचे पीड़ितों को यह बाबा अपने भक्तों की भीड़ में उन्हें पशु बलि के लिए उकसाता है। बल्कि उसका दावा है कि कलयुग में हर समस्या का समाधान बलि ही है। अपने इस तर्क को विश्वसनीय बनाने के लिए यह बाबा मोदी योगी का नाम लेकर उनके द्वारा भी बलि दिए जाने का बकवास आरोप लगाने से गुरेज नहीं करता है।

अंधविश्वासी तांत्रिक का कहना है मोदी योगी अपने हाथों से बकरा काटकर उसकी बलि देते हैं। तांत्रिक का कहना है कलयुग में बगैर बलि के इलाज संभव नहीं, अंधविश्वास का सबसे बड़ा उद्योग मिला सोनीपत के गांव ठरू उल्देपूर मे, इलाज के नाम पर लोगों की आर्थिक स्थिति के हिसाब से इक्कीस सौ रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक की फीस वसूलने वाला यह बाबा दिल्ली जल बोर्ड में पंप ऑपरेटर सरकारी कर्मचारी भी है। हैरानी की बात यह भी है कि प्रदेश में भाजपा सरकार होने के बाद भी मोदी योगी पर झूठे आरोप लगाने वाले इस बाबा पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

गांव के लोगों के कहना है कि यह बाबा आए दिन ठरू गाँव व आस पास रहने वाले नये-नये आदमियो, औरतो, लड़कियों, बुजुर्गों और बच्चों को अपनी तांत्रिक विद्या और अघोरी क्रिया के जाल में फँसाकर आपराधिक काम करता है। इसने लोगों से लाखो रूपये भी हड़प रखे हैं। हर शनिवार को हिन्दू धर्म से सम्बन्धित देवी देवताओ के नाम पर जीव जन्तुओ की हत्या करके बलि चढ़ाकर उनके मांस को देवी देवताओ का प्रसाद बताकर शाकाहारी लोगो को माँसाहारी बनाता है। भोले भाले, अनपढ़, बेरोजगार व गरीब लोगो की धार्मिक भावना को ठेस पहुँचाते हुए आस्था के नाम पर अन्धविश्वास को बढावा देकर लोगो को गलत रास्ते पर ले जा रहा है।

लोगो को थोड़े समय में अमीर बनाने का झूठा सपना दिखाकर लोगो से लाखो रुपयों की ठगी करके इसने अपनी करोड़ों की सम्पति इकट्ठा कर ली है। अपने आपको चमत्कारी बाबा बताकर लोगों को अपने झांसे में लेकर उनके निजी, पारिवारिक व नौकरी दिलाने से सम्बन्धित काम के साथ ही गर्भवती महिलाओं को लड़का होने का झूठा आश्वासन देकर अपनी करोड़ों की सम्पति इकट्ठा कर ली है। अज्ञानता व अन्धविश्वास का पाखण्ड फैलाकर लोगो में बुरी आत्मा होने का झांसा देकर मानसिक रोगियो को गंदी गंदी गालियाँ देकर बुरी तरह से मारता पीटता है और फिर लोगो के शरीर से बुरी आत्मा निकालने के लिए बकरे की बलि देने का ढोंग रचता है। बाबा ने ठरू गाँव के घरों, परिवारों को व अन्य जगह पर रहने वाले लोगो को कंगाल बनाकर उनका जीना हराम कर दिया हैं। जिससे तंग आकर बहुत से परिवार आत्महत्या करने पर मजबूर हो गये है। नाबालिग बच्चो को तांत्रिक और अघोरी क्रिया जैसी हरकते सिखाने के नाम पर उनको अज्ञानता और अन्धविश्वास के अन्धकार मे धकेल कर उनसे उनकी मासूमियत और शैक्षिक जीवन को खतरे में पहुँचाकर गॉव के भविष्य को बर्बाद करने पर उतारू है।

ठरू गाँव के सरपंच और अन्य व्यक्तियो ने इसकी तांत्रिक और अघोरी क्रिया के गलत व अन्धविश्वासी काम को बंद करने के लिए कई बार बोला, लेकिन उल्टे यह बाबा गाँव के लोगो को धमकी देता है कि कोई मेरा कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता। किसी ने भी मेरे काम में विरोध उत्पन्न किया तो मैं उसको जान से मार दूंगा और कोई मेरा कुछ भी नही बिगाड़ पायेगा। इस मामले में गांव के ही विकास अग्रवाल के नेतृत्व में रामेश्वर, श्रीपाल, बृजपाल, रवि, राहुल, पवन, गुलफाम, मनीष, संदीप आदि ने आरोपी बाबा के खिलाफ सोनीपत पुलिस की कंप्लेंट ब्रांच में मई माह के शुरू में लिखित शिकायत दी है। लेकिन इसके बाद भी इस प्रभावशाली बाबा का कुछ नहीं बिगड़ा है।

Next Story

विविध