कोविड -19

कोरोना नियमों का उल्लंघन बता गुरुद्वारा श्री बंगला साहिब को बंद करने के आदेश को सिख नेता ने बताया SDM का Cheap action

Janjwar Desk
19 Sep 2021 11:05 AM GMT
कोरोना नियमों का उल्लंघन बता गुरुद्वारा श्री बंगला साहिब को बंद करने के आदेश को सिख नेता ने बताया SDM का Cheap action
x

सिख नेता मनजिंदर सिंह ने कहा एसडीएम द्वारा कोविड नियमों के उल्लंघन का आरोप लगा गुरुद्वारा श्री बंगला साहिब को बंद करने का आदेश देना चीप एक्शन

गुरुद्वारा बंगला साहिब बंद करने के आदेश के बाद सिख नेता भड़क गए हैं, शिरोमणि अकाली दल नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने चाणक्यपुरी एसडीएम के आदेश के खिलाफ नाराजगी जताते हुए कार्यवाही की मांग की है...

जनज्वार। कोरोना की दूसरी लहर (covid second wave) की तबाही का गवाह पूरा देश बना, अब तीसरी लहर आने की आशंका जताई जा रही है, लेकिन इन सबके बीच लोगों की लापरवाहियां बढ़ने लगी हैं। लंबे समय के बाद सरकार ने ढील देते हुए धार्मिक स्थल खोले, लेकिन यहां कोरोना गाइडलाइन का जमकर उल्लंघन (Violation of Covid Protocol) किया जा रहा है।

लोगों की अनदेखी और तीसरी लहर के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली की केजरीवाल सरकार (delhi government) ने बड़ा कदम उठाते हुए नई दिल्ली (Delhi) इलाके में स्थित गुरुद्वारा बंगला साहिब (Gurudwara Bangla Sahib) को बंद करने का आदेश दिया है। चाणक्यपुरी जिला प्रशासन के मुताबिक गुरुद्वारा में कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया जा रहा था। वहीं प्रशासन के आदेश के बाद दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति (Delhi Sikh Gurdwara Management Committee) के निवर्तमान अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा नाराज दिखे। उन्होंने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

तीसरी लहर (covid third wave) के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Kejriwal govt.) ने कोविड गाइडलाइन (Corona guideline) जारी की हैं, जिनका पालन करना अनिवार्य है, लेकिन दिल्ली के गुरुद्वारा बंगाला साहिब (Gurudwara Bangla Sahib) में कोरोना नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था, जिसके बाद चाणक्यपुरी के उपमंडल मजिस्ट्रेट (SDM) गीता ग्रोवर ने 16 सितंबर को आदेश जारी किया। इसमें कार्यकारी मजिस्ट्रेट द्वारा पेश रिपोर्ट (report) को आधार बनाया गया।

रिपोर्ट में गुरुद्वारा प्रबंधन के द्वारा डीडीएमए (DDMA) के निर्देशों का उल्लंघन करते हुए अरदास की अनुमति की बात सामने आई। गुरुद्वारा प्रबंधन (Gurudwara management) द्वारा अरदास की छूट मिलने के बाद लोग दर्शन व प्रार्थना के लिए आवाजाही करते दिखे, जिसके बाद प्रशासन ने बंगला साहिब गुरुद्वारा को तत्काल प्रभाव से श्रद्धालुओं के लिए बंद करने को कहा गया है।

वहीं प्रशासन की कार्यवाही के बाद सिख नेता भड़क गए हैं। शिरोमणि अकाली दल (SAD) नेता एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति (DSGMC) के निवर्तमान प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा ने चाणक्यपुरी एसडीएम के आदेश के खिलाफ नाराजगी जताते हुए कार्यवाही की मांग की है।

मनजिंदर सिंह ने ट्विटर पर वीडियो शेयर किया, जिसमें वह कहते हुए दिख रहे हैं कि एसडीएम द्वारा कोविड नियमों के उल्लंघन के आरोप में गुरुद्वारा श्री बंगला साहिब को बंद करने के लिए एक तुच्छ कार्यवाही की गई है। हम दिल्ली सरकार (delhi government) की इस बीमार मानसिकता की निंदा करते हैं और अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal) जी से संबंधित नीति और एसडीएम गीता ग्रोवर के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग करते हैं।

इस वीडियो में सिरसा ने सवाल उठाते हुए कहा कि जब कोविड संक्रमण (corona) चरम पर था तो गुरुद्वारे को लॉकडाउन नहीं किया गया, क्योंकि वहां हजारों लोगों के लिए मुफ्त लंगर का इंतजाम किया जा रहा था। कोविड केयर सेंटर (covid care center) बनाया गया, ताकि मरीजों की सेवा की जा सके। आज उस गुरुद्वारे को बंद करने का आदेश दिया गया है, जिसमें कोरोना की दूसरी लहर और लॉकडाउन के दौरान लंगर का आयोजन किया, साथ ही मरीजों के लिए दूसरों की व्यवस्था कर कई लोगों की मदद की है।

गौरतलब है कि दिल्ली आपदा प्रंबधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority) ने हाल ही में अपनी मीटिंग में दिल्ली में विभिन्न गतिविधियों पर लगाए गए प्रतिबंध की सीमा 15 से 30 सितंबर तक कर दी है। इसके तहत ही धार्मिक स्थलों में पूजा व श्रृद्धालुओं के प्रवेश पर रोक (Ban on worship and entry to religious places) लगा दी गई थी। इस आदेश के उल्लघंन को देखते हुए प्रशासन कार्यवाही कर रहा है, वहीं पूरे मामले को लेकर चाणक्यपुरी एसडीएम कार्यालय ने कहा जो कुछ भी हुआ है, वह डीडीएमए के आदेश के अनुसार हुआ है।

Next Story

विविध