आर्थिक

Spicejet ने 80 पायलटों को बिना वेतन के 3 महीने की छुट्टी पर भेजा, 50% उड़ानों पर रोक बाद लिया ये फैसला

Janjwar Desk
21 Sep 2022 4:58 AM GMT
स्पाइसजेट ने 80 पायलटों को बिना वेतन के 3 महीने की छुट्टी पर भेजा, 50% उड़ानों पर रोके बाद लिया ये फैसला
x

स्पाइसजेट ने 80 पायलटों को बिना वेतन के 3 महीने की छुट्टी पर भेजा, 50% उड़ानों पर रोके बाद लिया ये फैसला

एयर सेवा स्पाइसजेट ( Spicejet ) ने 20 जुलाई को 80 पायलटों को बिना वेतन के 3 महीने की छुट्टी पर भेजा। मैक्स विमान सेवा में आते ही सभी पायलट को फिर से सेवा में बहाल कर दिया जाएगा।

नई दिल्ली। भारतीय विमानन सेवा स्पाइसजेट ( Spicejet ) ने सुरक्षा कारणों से 50 फीसदी उड़ानों पर रोक के बाद बड़ा फैसला लिया है। प्रबंधन ने एक दिन पहले लगभग 80 पायलटों को बिना वेतन ( Pilot sent on leave without pay ) के तीन महीने की छुट्टी पर भेज दिया है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक स्पाइसजेट ने ये फैसला 50 फीसदी उड़ान बैन होने के बाद लिया है। एयरलाइन ने सटीक संख्या की पुष्टि नहीं की लेकिन बयान जरूर जारी किया है। बजाया जा रहा है कि डीजीसीए ( DGCA ) की ओर से सख्ती के बाद स्पाइसजेट को यह फैसला लेना पड़ा है।

कर्मचारियों की छंटनी का हमारा कोई इरादा नहीं

इस बीच स्पाइसजेट एयरलाइन्स ने एक बयान में कहा स्पाइसजेट ने कुछ पायलटों को 3 महीने की अवधि के लिए बिना वेतन के छुट्टी पर रखने का फैसला किया है। यहां यह गौर करने वाली बात है कि स्पाइसजेट किसी भी कर्मचारी की छंटनी नहीं कर रहा है। कोरोना महामारी के दौरान भी एयरलाइन ने कर्मचारियों की छंटनी नहीं की। इसे लेकर एयरलाइन अपने कर्मियों को लेकर प्रतिबद्ध है।

4 साल में करीब 4000 करोड का घाटा

स्पाइसजेट ( Spicejet ) ने बोइंग और 400 बेड़े के पायलटों को लागत कम करने के लिए बिना वेतन के छुट्टी पर जाने के लिए कहा है। वित्तीय वर्ष के हिसाब से घाटे पर नजर दौड़ाएं तो स्पाइसजेट को वित्तीय वर्ष 19, 20, 21 और 22 में क्रमश : 316 करोड़ रुपए , 934 करोड़ रुपए, 998 करोड़ रुपए और 1,725 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा उठाना पड़ा है। एयरलाइन ने अपने बयान में बताया कि तकनीकी खराबी के कारण दो दुर्घटनाओं के बाद मार्च 2019 से नवंबर 2020 के बीच बोइंग 737 मैक्स विमान की ग्राउंडिंग ने आर्थिक रूप से घिरे एयरलाइन को क्षति पहुंची है।

एयरलाइन ने कहा कि स्पाइसजेट ने 2019 में 737 मैक्स विमान की ग्राउंडिंग के बाद 30 से अधिक विमानों को शामिल किया था। एयरलाइन ने अपने नियोजित पायलट इंडक्शन कार्यक्रम को इस उम्मीद में जारी रखा था कि मैक्स विमान को जल्द ही सेवा में शामिल किया जाएगा। लंबे समय तक ग्राउंडिंग मैक्स फ्लीट के परिणामस्वरूप स्पाइसजेट में बड़ी संख्या में अतिरिक्त पायलट बने।

मैक्स विमान सेवा में आते ही सभी काम पर वापस लौट आएंगे

एयरलाइन ने उम्मीद जताई कि जल्द ही स्थिति ठीक हो जाएगी। एयरलाइन ने कहा कि हम जल्द ही मैक्स विमान शामिल करेंगे और ये पायलट शामिल होने के साथ ही सेवा में वापस आ जाएंगे। एलडब्ल्यूपी अवधि के दौरान यह आश्वासन दिया कि पायलट समेत सभी कर्मचारी लाभों के लिए पात्र रहेंगे जैसा कि लागू बीमा लाभ और कर्मचारी छुट्टी पर है।

बता दें कि स्पाइसजेट ( Spicejet ) एयरलाइन आर्थिक रूप से संघर्ष कर रही है। इसके अलावा 27 जुलाई को नागरिक उड्डयन के महानिदेशक ने स्पाइसजेट को कई हवाई सुरक्षा घटनाओं की सूचना के बाद अगले आठ हफ्तों के लिए अपनी केवल 50 प्रतिशत उड़ानों को संचालित करने का आदेश दिया था। अब स्पाइसजेट ने मंगलवार को अपने बयान में कहा कि कुछ पायलटों को बिना वेतन के छुट्टी पर रखने के बाद भी स्पाइसजेट के पास अपने पूर्ण कार्यक्रम को संचालित करने के लिए पर्याप्त संख्या में पायलट होंगे। जब उड़ानों पर डीजीसीए प्रतिबंध हटा दिया जाएगा तब सभी पायलट वापस आ जाएंगे।

Next Story

विविध