शिक्षा

Rajasthan News : छात्र के नमाज पढ़ने के बाद कैंपस बना राजनीति का अखाड़ा - ABVP ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

Janjwar Desk
15 Nov 2021 5:19 PM GMT
Rajasthan News : छात्र के नमाज पढ़ने के बाद कैंपस बना राजनीति का अखाड़ा - ABVP ने किया हनुमान चालीसा का पाठ
x

(राजस्थान यूनिवर्सिटी के कॉलेज में एबीवीपी ने हनुमान चालीसा का पाठ किया) Photo credit -social media

Rajasthan News : राजस्थान की राजधानी जयपुर में राजस्थान यूनिवर्सिटी से संबद्ध राजस्थान कालेज कैंपस में एक छात्र के नमाज पढ़ने की घटना ने राजनीतिक रंग ले लिया है।

Rajasthan News : राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur news) में राजस्थान यूनिवर्सिटी (Rajasthan University) से संबद्ध राजस्थान कालेज (Rajasthan College) कैंपस में एक छात्र के नमाज पढ़ने की घटना ने राजनीतिक रंग ले लिया है। छात्र संगठन एनएसयूआई (NSUI) ने जहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर आरोप लगाते हुए माहौल बिगाड़ने का आरोप लगाया है। वहीं, एबीवीपी ने नमाज के विरोध में कालेज कैंपस में हनुमान चालीसा का पाठ किया। जिसके बाद इस मामले में विवाद बढ़ता जा रहा है।

प्रदेश के एक कॉलेज में पिछले सप्ताह एक छात्र द्वारा परिसर में नमाज पढ़ने की घटना हुई थी। जिसपर एक शिक्षक द्वारा आपत्ति जताई गई थी। अब इसके विरोध में सोमवार, 15 नवंबर 2021 को छात्र संगठन एबीवीपी (ABVP) के कार्यकर्ताओं ने कालेज परिसर में हनुमान चालीसा पढ़ी। हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ के बाद एबीवीपी के छात्रों ने नारे भी लगाए।

मिली जानकारी के अनुसार, पिछले 12 नवंबर को जयपुर में राजस्थान विश्वविद्यालय से संबद्ध एक कॉलेज में एक छात्र ने नमाज पढ़ी। इसे लेकर कॉलेज के ही एक शिक्षक ने कैंपस में नमाज पढ़ने पर आपत्ति जताई थी।

अब सोमवार को विरोधस्वरूप बिरसा मुंडा की जयंती पर परिसर में उन्हें श्रद्धांजलि देने के बाद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने नमाज के विरोध के रूप में हनुमान चालीसा के छंदों का पाठ किया।

वहीं, इन दोनों घटनाओं के बाद अब कॉलेज में नया विवाद खड़ा हो गया है। उधर, भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (एनएसयूआई) के सदस्यों ने मांग की कि धर्म के नाम पर इस तरह की आपत्तियां उठाने पर शिक्षक को निलंबित किया जाए।

एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष राजेश चौधरी ने कहा, "जिस शिक्षक ने आपत्ति की वह आरएसएस से जुड़ा है। छात्र खुले मैदान में नमाज पढ़ रहा था। धर्म के नाम पर किसी को प्रताड़ित करना गलत है।"

एनएसयूआई का कहना है कि आरएसएस से जुड़े शिक्षक और गार्ड ने कालेज में खुले स्थान पर नमाज पढ़ने से रोका है। जिसको आरएसएस से जुड़े शिक्षक व गार्ड ने रोक सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। अब हम तब तक विरोध करेंगे जबतक सौहार्द्र बिगाड़ने वाले शिक्षक व गार्ड को बर्खास्त नहीं किया जाता है।

वहीं, एबीवीपी के राज्य सचिव होशियार मीणा ने कहा कि वे शिक्षा के गलियारों को खराब नहीं होने देंगे। उन्होंने दावा किया कि यह न केवल एक कॉलेज का छात्र था, बल्कि अन्य लोग भी थे जो परिसर में नमाज अता कर रहे थे, जिसे सहन नहीं किया जा सकता है।

उधर, गांधी नगर पुलिस ने विश्वविद्यालय के कुलपति को अपने संबद्ध कॉलेजों को निर्देश जारी करने के लिए कहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि शैक्षणिक परिसरों में ऐसी चीजें न हों।

गांधी नगर के एसएचओ नेमी चंद ने कहा, "हमने कुलपति से संबद्ध कॉलेजों को निर्देश जारी करने को कहा है कि भविष्य में शैक्षणिक परिसरों में ऐसी गतिविधियां न हों।"

Next Story

विविध

Share it