पर्यावरण

Aaj Ka Mausam: बेमौसम बरसात की तबाही, केरल में सुधरे हालात तो अब उत्तराखंड में 'रेड अलर्ट'

Janjwar Desk
19 Oct 2021 9:13 AM GMT
Aaj Ka Mausam: दिवाली तक ठंड की होगी एंट्री, 14 अक्टूबर को अधिकारिक तौर पर मॉनसून की हुई विदाई
x
Aaj Ka Mausam: केरल में आमतौर पर अक्टूबर में जहां राज्य में 300 मिमी बारिश होती थी, वहीं इस महीनें बारिश का स्तर 700-800 मिमी दर्ज किया गया। यही कारण है कि केरल के अधिकांश हिस्सों में इस साल बाढ़ आ गई है...

Aaj ka Mausam: मॉनसून की विदाई के बाद बेमौसम बरसात ने आम जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। एक तरफ दक्षिण भारत में मूसलाधार बारिश से जहां बाढ़ की स्थिति बन गई है तो वहीं दूसरी ओर उत्तर भारत के पर्वतीय हिस्सों में बर्फबारी और भारी बारिश ने लोगों को घरों में कैद होने को मजबूर कर दिया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुमान के मुताबिक, देश के कई राज्यों में 19 अक्टूबर को भी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

आईएमडी के अनुमान के मुताबिक, अगले 24 घंटे के दौरान उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली, चडीगढ़, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और ओडिशा समेत कई राज्यों में बारिश की संभावना है।

इस दौरान इन राज्यों में 30-40 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार, 20-22 अक्टूबर के दौरान रायलसीमा, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में बारिश की गतिविधियां जारी रहेंगी। 21 और 22 अक्टूबर को केरल, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी भारी बारिश हो सकती है।

दक्षिण राज्यों के अलावा मौसम विभाग ने पूर्वोत्तर भारत में भी बारिश जारी रहने का अनुमान लगाया है। 18 अक्टूबर से ही पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश शुरू हो चुकी है। विभाग की मानें तो ये सिलसिला 21 अक्टूबर तक जारी रहेगा। इस दौरान असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में बहुत भारी बारिश संभव है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने 19-20 अक्टूबर को बिहार, उप हिमालयी पश्चिम-बंगाल और सिक्किम में भारी बारिश की आशंका व्यक्त की है। इसके अलावा झारखंड, ओडिशा में भी 19 अक्टूबर को गरज और बिजली के साथ बारिश होने की संभावना है।

केरल में राहत की संभावना

केरल में पिछले कुछ दिनों में लगातार बारिश से हालात बिगड़ गए हैं। आमतौर पर अक्टूबर में जहां राज्य में 300 मिमी बारिश होती थी, वहीं इस महीनें बारिश का स्तर 700-800 मिमी दर्ज किया गया। यही कारण है कि केरल के अधिकांश हिस्सों में इस साल बाढ़ आ गई है।

हालांकि, 17 अक्टूबर की तुलना में 18 अक्टूबर को कुछ राहत जरूर मिली है। मौसम विभाग की मानें तो केरल में इसी तरह की स्थिति होने की संभावना है और अधिकांश स्थानों पर हल्की बारिश के साथ ही छिटपुट मध्यम बौछारें पड़ने की संभावना है। वहीं, मंगलवार, 19 अक्टूबर को भी बारिश हल्की और मध्यम प्रकृति की ही होगी, जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिल सकेगा।

उत्तराखंड में रेड अलर्ट

भारी बारिश के खतरे को देखते हुए उत्तराखंड में मौसम विभाग ने 18 और 19 अक्टूबर को रेड अलर्ट जारी कर दिया है। मौसम विभाग ने राज्य सरकार को सभी जिलों में सतर्क रहने की चेतावनी दी है। सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्य सचिव एसएस संधू को फ़ोन कर सभी जिलाधिकारियों को सख्त दिशा निर्देश जारी करने के आदेश दिए हैं। मौसम विभाग के अनुसार, उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण नदियों में जल की भारी बढ़ोतरी हो सकती है, पुल ढह सकते हैं, भूस्खलन के कारण रास्ते बाधित हो सकते हैं। राज्य के हरिद्वार, उधमसिंह नगर, चंपावत, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, बागेश्वर और चमोली आदि जिलों में सतर्क रहने की आवश्यकता है। उत्तराखंड में लोगों से मूवमेंट न करने की अपील की गई है।

अगले 24 घंटों के दौरान मौसम की गतिविधि

स्काईमेट के अनुसार, अगले 24 घंटों के दौरान, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी और मध्य भागों, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, सिक्किम, असम, मेघालय, तटीय ओडिशा, झारखंड के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

उत्तर पूर्व भारत के बाकी हिस्सों, बिहार के शेष हिस्सों, उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, छत्तीसगढ़, आंतरिक उड़ीसा, जम्मू कश्मीर के कुछ हिस्सों, लद्दाख, शेष मध्य प्रदेश, विदर्भ के कुछ हिस्सों, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तटीय कर्नाटक केरल, लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इसी के साथ दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में भी अगले 24 घंटे के दौरान हल्की बारिश संभव है।

Next Story

विविध

Share it