हाशिये का समाज

Himachal Pradesh News : हिमाचल के हट्टी समुदाय को दिया जाएगा आदिवासी का दर्जा, चुनाव से पहले भाजपा चल रही दांव

Janjwar Desk
27 April 2022 3:15 PM GMT
Himachal Pradesh News : हिमाचल के हट्टी समुदाय को मिलेगा आदिवासी का दर्जा, चुनाव से पहले भाजपा चल रही दांव
x

Himachal Pradesh News : हिमाचल के हट्टी समुदाय को मिलेगा आदिवासी का दर्जा, चुनाव से पहले भाजपा चल रही दांव

Himachal Pradesh News : हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि हट्टी समुदाय लंबे समय से आदिवासी समुदाय का दर्जा दिए जाने की मांग कर रहा था। मैंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और इस पर चर्चा की। सभी तकनीकी पहलुओं को जल्द ही पूरा किया जाएगा और हट्टी समुदाय को आदिवासी समुदाय का दर्जा दिया जाएगा...

Himachal Pradesh News : हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh News) में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने वाले हैं। वहां की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने चुनावों से पहले एक बड़ा दांव खेला है। भाजपा ने राज्य के हट्टी समुदाय को आदिवासी समुदाय (Scheduled Tribes) का दर्जा देने का फैसला किया है। खुद हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने यह जानकारी दी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मुलाकात के बाद हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि लंबे समय से हट्टी समुदाय के लोग आदिवासी समुदाय का दर्जा देने की मांग कर रहे थे, अब उनकी मांग मान ली गयी है।

इस दौरान उन्होंने कहा, "हिमाचल प्रदेश में हट्टी समुदाय लंबे समय से आदिवासी समुदाय का दर्जा दिए जाने की मांग कर रहा था। मैंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और इस पर चर्चा की। सभी तकनीकी पहलुओं को जल्द ही पूरा किया जाएगा और हट्टी समुदाय को आदिवासी समुदाय का दर्जा दिया जाएगा।"

बता दें कि पिछड़े हट्टी समुदाय ने हाल ही में फिर से अनुसूचित जनजाति (एसटी) का दर्जा दिए जाने के लिए अपनी दशकों पुरानी मांग को दोहराया था। समुदाय ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से करीब 15 साल पुराने वादे को पूरा करने को कहा था।

राजधानी स्थित हिमाचल भवन में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए ठाकुर ने कहा कि 1967 से हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा और गिरि पार क्षेत्र को अनुसूचित जनजातीय क्षेत्र घोषित किए जाने की मांग उठती रही है लेकिन यह मामला मानव जाति विज्ञान संबंधी शोध यानी एथनोग्राफिक स्टडी सहित अन्य विभिन्न तकनीकी खामियों की वजह से टलता रहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 1967 में ही उत्तराखंड के जौनसार बावर क्षेत्र को अनुसूचित जनजाति क्षेत्र घोषित कर दिया था लेकिन हिमाचल प्रदेश के लोगों को इसका लाभ नहीं मिला और तभी से इसी तर्ज पर हाटी समुदाय को जनजातीय दर्जा दिए जाने की मांग उठती रही है। जौनसार बावर क्षेत्र उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश की सीमा से सटा हुआ है।

Next Story

विविध