बिहार

लालू यादव जेल से फोन कर विधायकों को खरीदने की कर रहे कोशिश, सुशील मोदी का आरोप

Janjwar Desk
24 Nov 2020 5:33 PM GMT
लालू यादव जेल से फोन कर विधायकों को खरीदने की कर रहे कोशिश, सुशील मोदी का आरोप
x
सुशील मोदी ने एक मोबाइल नम्बर जारी करते हुए ट्वीट कर लिखा कि लालू प्रसाद इस नम्बर से लगातार एनडीए के विधायकों को फोन कर रहे हैं, वे उन्हें महागठबंधन में शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के विरुद्ध बड़ा आरोप लगाया है। सुशील मोदी ने आरोप लगाया है कि कि रांची में जेल की सजा काट रहे लालू प्रसाद मोबाइल का न सिर्फ इस्तेमाल कर रहे हैं, बल्कि लगातार मोबाइल फोन के जरिए एनडीए के नवनिर्वाचित विधायकों से संपर्क साध रहे हैं।

सुशील मोदी ने मंगलवार की रात एक ट्वीट कर सनसनी फैला दी। सुशील मोदी ने एक मोबाइल नम्बर जारी करते हुए ट्वीट कर लिखा कि लालू प्रसाद इस मोबाइल नम्बर से लगातार एनडीए के विधायकों को फोन कर मंत्री पद का प्रलोभन दे रहे हैं। वे उन्हें महागठबंधन में शामिल करने की कोशिश कर रहे हैं। सुशील मोदी ने यह भी कहा है कि जब इस नम्बर पर उनके द्वारा कॉल किया गया तो फोन खुद लालू प्रसाद ने उठाया। जिसपर उन्होंने कहा कि कितनी भी तिकड़म कर लें, सफलता नहीं मिलेगी। उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद फिलहाल रिम्स अस्पताल के केली बंगले में रह रहे हैं।

सुशील मोदी पहले भी लालू प्रसाद और उनके परिजनों पर गंभीर आरोप लगाते रहे हैं। साल 2015 में राज्य में जब जेडीयू और राजद की सरकार बनी थी तथा बीजेपी विपक्ष में थी, तब सुशील मोदी ने लालू प्रसाद और उनके परिवार के विरुद्ध आरोपों की बाजाप्ता एक सीरीज चलाई थी और प्रतिदिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक आरोप लगाते थे और नए-नए खुलासे करते थे। हालांकि बाद में जेडीयू ने राजद से अलग होकर बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली थी।

सुशील मोदी का यह आरोप काफी गंभीर है और इससे बिहार के राजनीतिक हलके में सनसनी मच गई है। कल बुधवार को बिहार विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होना है। इस बार महागठबंधन की ओर से भी अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार उतारा गया है।


उधर सुशील मोदी के इस ट्वीट के बाद सत्ताधारी दल राजद और लालू प्रसाद व तेजस्वी यादव पर हमलावर हो गए हैं। जेडीयू प्रवक्ता एमएलसी नीरज कुमार ने कहा कि लालू प्रसाद आदतन अपराधी हैं, इसके लिए अब कौन सा प्रमाण चाहिए। सत्ता के प्रभाव का उपयोग कर भ्रष्टाचार के मामले में सजायाफ्ता होने के बावजूद वे अस्पताल में हैं। यही नहीं, बल्कि सीधे फोन पर संवाद कर रहे हैं।

उन्होंने तेजस्वी यादव को भी घेरते हुए कहा कि तेजस्वी को अपने पिता के इस गुनाह पर जुबान खोलना चाहिए। बिहार में विधानसभा के अध्यक्ष का चुनाव होना है और उससे पहले लालू प्रसाद द्वारा विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव केवल उगाही का काम जानते हैं।

उन्होंने मांग किया कि सुशील मोदी के आरोप काफी गंभीर हैं और लालू प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। फिलहाल इस मामले को लेकर राजद की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Next Story

विविध

Share it