बिहार

गुप्तेश्वर पाण्डेय की वीरता का बखान करने वाले गाने पर मचा बवाल, इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने की जाँच की मांग

Janjwar Desk
24 Sep 2020 1:08 PM GMT
गुप्तेश्वर पाण्डेय की वीरता का बखान करने वाले गाने पर मचा बवाल, इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने की जाँच की मांग
x
इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने ट्वीट कर कहा 'एक राज्य के पुलिस महानिदेशक अगर ऐसे वीडियो बनाते हैं तो उनकी पसंद बेहद खराब है। वो अपने पद और वर्दी दोनों को बदनाम कर रहे हैं।' इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने जो वीडियो ट्वीट किया है, उसे ‘बिग बॉस-12’ में कंटेस्टेंट रह चुके दीपक ठाकुर ने गुप्तेश्वर पांडेय के साथ गाना गाकर बनाया है।

जनज्वार ब्यूरो, बिहार। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले वीआरएस ले चुके राज्य के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का एक वीडियो सुर्खियों में आ गया है। अब इसको लेकर हंगामा होना शुरू हो गया है। जिसके बाद इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने पूर्व डीजीपी के वीडियो को ट्वीट कर कार्रवाई की मांग की है।

इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने ट्वीट कर कहा 'एक राज्य के पुलिस महानिदेशक अगर ऐसे वीडियो बनाते हैं तो उनकी पसंद बेहद खराब है। वो अपने पद और वर्दी दोनों को बदनाम कर रहे हैं।' इंडियन पुलिस फाउंडेशन ने जो वीडियो ट्वीट किया है, उसे 'बिग बॉस-12' में कंटेस्टेंट रह चुके दीपक ठाकुर ने गुप्तेश्वर पांडेय के साथ गाना गाकर बनाया है। इस गाने के बोल 'रॉबिनहुड बिहार के' हैं। वीडियो में गुप्तेश्वर पांडेय का भरपूर गुणगान किया गया है।

वीडियो में बताया गया है कि गुप्तेश्वर पांडेय का बिहार में ऐसा खौफ है कि माफिया, अपराधी भगवान से दुआ मांगते हैं। पाण्डेय की एक ही दहाड़ से इलाका हिल जाता है। वीडियो में उनकी आंख बाघ की आंख से की गई है। वीडियो में पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को बार -बार 'रॉबिनहुड बिहार के' कहा गया है। उन्हें वर्दी में दिखाया गया है, योगा करते हुए भी दिखाया गया है साथ ही वह एक जगह जॉगिंग करते हुए भी दिखते हैं।

गाने में एक लाइन भी हैं जिसमे कहा गया कि 'रॉबिनहुड पधारे हैं इलाका धुंआ, धुंआ होगा, ये हत्यारे को रख देते हैं फाड़ के।' साथ ही वीडियो में पूर्व डीजीपी को 'लोगों का हीरो' भी बताया गया है। कुल मिलाकर गुप्तेश्वर पाण्डेय को चुलबुल पाण्डेय से भी दमदार, जनता का हीरो टाईप दिखाया गया है।

राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने विहार विधानसभा इलेक्शन से ठीक पहले अचानक स्वैच्छिक सेवानिवृति यानी वीआरएस ले ली है। एक अखबार को दिए बयान में पाण्डेय ने कहा कि 'उन्हें पॉलिटिकल एजेंडा बनाया जा रहा था, जिसके चलते उन्होंने वीआरएस लिया है। राजनीति में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीति में जाना कोई बुरी बात नहीं है। लेकिन अभी तक इस पर फैसला नहीं लिया है।'

Next Story

विविध

Share it