राष्ट्रीय

कानपुर : BJP ने स्थानीय नटवरलाल को दिया प्रदेश में अहम पद, खुद को RSS नेता बताकर भाजपाइयों को ही लगाया था चूना

Janjwar Desk
11 Sep 2021 5:13 AM GMT
कानपुर : BJP ने स्थानीय नटवरलाल को दिया प्रदेश में अहम पद, खुद को RSS नेता बताकर भाजपाइयों को ही लगाया था चूना
x

(स्थानीय नटवरलाल विष्णु बाबू दिवाकर Image Sorce/Bhaskar)

गोरखपुर की एक शिक्षिका ने जमीन दिलाने के नाम पर 60 लाख रूपये ठगने का आरोप लगाया था। कल्याणपुर की रहने वाली कमला देवी को विधानसभा का टिकट दिलाने के नाम पर भी 45 लाख रूपये ऐंठे थे...

जनज्वार, कानपुर। यूपी के कानपुर (Kanpur) में अपने आप को संघ (RSS) का बड़ा पदाधिकारी बताकर करोड़ों रूपयों की ठगी कर चुका एक स्थानीय नटवरलाल को भाजपा ने पदाधिकारी बना दिया। मजे की बात यह सामने आई है कि नटवरलाल ने भाजपा नेताओं को ही शिकार बनाकर चूना लगाया था। बावजूद इसके उसका ओहदा घटाने की बजाए बढ़ा दिया गया।

दरअसल, बीती 6 सितंबर को यूपी अनुसूचित जाति मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी घेषित की गई थी। जिसमें 27 लोगों के नाम शामिल थे। इस लिस्ट के आखिर में विष्णु दिवाकर (Vishnu Diwakar) का नाम भी शामिल था। जिसको कानपुर देहात से सदस्य बनाया गया था। नटवरलाल विष्णु सचेंडी के सीढ़ी इटारा गांव का रहने वाला बताया जाता है।

बीते महीने मेरठ (Merrut) की भाजपा की नेता पूजा बंसल (Pooja Bansal) ने विष्णु पर 50 लाख रूपये की ठगी का मुकदमा दर्ज करवाया था। जांच शुरू हुई तो आरोपी विष्णु फरार हो गया था। जिसके बाद पूजा बंसल सहित भाजपा के अन्य पदाधिकारियों ने आलाकमान से शिकायत की थी। शिकायत में मांग उठाई गई थी की विष्णु से तत्काल पद वापस लिया जाए।

मेरठ की पूजा बंसल का आरोप

फरार आरोपी को पद देने के बाद भाजपा (BJP) में अंदरखाने कलह शुरू हो गई। आरोप लग रहे थे कि जिस पदाधिकारी ने भाजपा नेताओं को ही ठगी का शिकार बनाया उसे ही पार्टी ने निकालने की बजाए बड़ा ओहदा दे दिया। इन शिकायतों को संज्ञान में लेकर शुक्रवार को नई सूची जारी की गई जिसमें विष्णु उर्फ नटवरलाल का नाम गायब था।

राम मंदिर के नाम पर भी की है ठगी

आरोपी विष्णु बाबू बड़ा ठग बताया जाता है। वह राम मंदिर (Ram Mandir) के नाम पर भी लोगों से लाखों रूपयों का चंदा वसूल चुका है। उसपर गोरखपुर की एक शिक्षिका ने जमीन दिलाने के नाम पर 60 लाख रूपये ठगने का आरोप लगाया था। कल्याणपुर की रहने वाली कमला देवी को विधानसभा का टिकट दिलाने के नाम पर भी 45 लाख रूपये ऐंठे थे। उसने मेरठ सहित कई शहरों में लोगों को पार्टी में पद दिलाने के नाम पर करोड़ों का वारा-न्यारा किया था।

खुद को RSS का बड़ा नेता बताता है ठग विष्णु बाबू

विष्णु कई लोगों को सरकारी नौकरी (Government Job) दिलवाने का झांसा देकर बड़ी ठगी कर चुका है। वह लोगों को झांसे में लेकर खुद को संघ का बड़ा पदाधिकारी बताता था। वह अफसरों और नेताओं के साथ अपनी फोटो दिखाकर लोगों को चमकाकर फ्रॉड करता रहा है।

Next Story

विविध

Share it