Top
राष्ट्रीय

चीन के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन, बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कन्फ्यूजन में किम जोंग का पुतला फूंक दिया

Janjwar Desk
19 Jun 2020 6:49 AM GMT
चीन के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन, बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कन्फ्यूजन में किम जोंग का पुतला फूंक दिया
x
लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के बर्बर कृत्य से पूरा देश आक्रोश में है। बंगाल, बिहार सहित कई राज्यों में प्रदर्शन हुए और चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंका गया।

जनज्वार। लद्दाख के गलवान घाटी में चीन की सेना के बर्बर कृत्य की बातें जैसे-जैसे सामने आ रहीं हैं, देश के लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। चीन के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर गए हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं। कहीं चीनी राष्ट्रपति का पुतला दहन किया जा रहा है तो कहीं चाइनीज प्रोडक्ट्स के विज्ञापनों पर कालिख पोती जा रही है। सोशल मीडिया पर भी चाइनीज प्रोडक्ट्स के बहिष्कार का अभियान चलाया जा रहा है। इन सबके बीच पश्चिम बंगाल में एक अनूठा मामला सामने आया है, जहां अतिउत्साहित बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नाम के कन्फ्यूजन में चीन के राष्ट्रपति की जगह चीन का प्रधानमंत्री बताते हुए किम जुंग का ही पुतला फूंक दिया। उत्तर कोरिया के शासक का नाम किम योंग जुंग है। अब लोग इन्हें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल कर रहे हैं।

नवभारत टाइम्स ऑनलाइन की खबर के अनुसार पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने चीन के विरुद्ध कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया। जगह-जगह चीनी राष्ट्रपति के पुतले फूंके गए और लोगों से चाइनीज सामान के बहिष्कार की अपील की गई। इसी क्रम में आसनसोल के बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नाम के कन्फ्यूजन में भारी गलती कर दी। इन कार्यकर्ताओं ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की जगह चीन का प्रधानमंत्री बताते हुए किम जोंग का पुतला फूंक दिया। किम जोंग उन उत्तर कोरियाई शासक का नाम है। स्थानीय मीडिया से बात करते हुए भी नेताओं ने चीन का प्रधानमंत्री बताते हुए यही नाम लिया।

ऐसा ही एक वीडियो @HLVishwakrma नाम के एक ट्विटर हैंडल से शेयर किया गया है। ट्विट करने वाले ने लिखा है क्या बात है - बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग की जगह चीन के प्रधानमंत्री किम जोंग का पुतला फूंक दिया। पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने ऐसा ही वीडियो ट्वीट किया।

इस वीडियो में खुद को बीजेपी का आसनसोल मंडल-1 का अध्यक्ष बतानेवाले शख्स ने किम जोंग का नाम रखा है, हालांकि वह उसे चीन का प्रधानमंत्री बता रहा है। इसमें शवयात्रा निकाल कर पुतला फूंकने की जानकारी दी गई है। साथ ही लोगों से चाइनीज वस्तुओं का बहिष्कार कर स्वदेशी अपनाने की भी अपील की गई है। अन सोशल मीडिया पर लोग इसे शेयर कर चटकारे ले रहे हैं। ट्रोलर्स भी ऐक्शन में आ गए हैं और इन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है।

बिहार में चीन के खिलाफ लोग भड़के हुए हैं और लगातार विरोध प्रदर्शन चल रहा है। कई जिलों में कैंडल जुलूस निकाले गए हैं तो कई जगह चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंका गया है। पटना में चाइनीज वस्तुओं के विज्ञापन होर्डिंग्स पर कालिख पोतने का अभियान चल रहा है।

विगत 15-16 जून की दरम्यानी रात में गलवान घाटी में चीनी सेना ने भारतीय जवानों पर हमला कर दिया था, जिसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे और कई अन्य घायल हो गए थे। चीन के भी कई सैनिकों के मारे जाने की खबर है, पर चीन ने अभी इसे आधिकारिक तौर पर स्वीकार नहीं किया है। इसके बाद से ही देशभर में चीन का विरोध और चाइनीज प्रोडक्ट्स के बहिष्कार का दौर शुरू हो गया है।

Next Story

विविध

Share it