राष्ट्रीय

Crime News : बाथरूम गंदा होने पर छात्राओं के उतरवाए कपड़े, हॉस्टल प्रबंधन ने छात्राओं के मासिक धर्म की जांच की

Janjwar Desk
30 Sep 2021 2:30 PM GMT
Crime News : बाथरूम गंदा होने पर छात्राओं के उतरवाए कपड़े, हॉस्टल प्रबंधन ने छात्राओं के मासिक धर्म की जांच की
x
Crime News : हॉस्टल में रह रही छात्राओं का आरोप है कि हॉस्टल के बाथरूम में गंदा था, जिसके बाद हॉस्टल प्रशासन ने लड़कियों के कपड़े उतरवाकर जांच की....

Crime News उत्तर प्रदेश। मेरठ (Meerut) में मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। मेरठ (Meerut) में एक निजी हॉस्टल में बाथरूम (Private Hostel Bathroom) गंदा होने पर छात्राओं के कपड़े उतरवाकर जांच करने मामला सामने आया है।

हॉस्टल में रह रहीं छात्राओं (Girl Students) का आरोप है कि हॉस्टल का बाथरूम गंदा था, जिसके बाद हॉस्टल प्रशासन (Hostel Administration) ने लड़कियों के कपड़े उतरवाकर जांच की। घटना के बाद एक छात्रा ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस (Meerut Police) ने मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं हॉस्टल प्रशासन अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को गलत बता रहा है।

पीरियड्स के कारण गंदा था बाथरूम

घटना को लेकर पुलिस को सूचित करने वाली छात्रा का कहना है कि उसकी महावारी (Periods) चल रही थी। छात्रा ने बताया कि उसने बाथरूम का इस्तेमाल किया, पर उस दौरान बाथरूम (Bathroom) में पानी नहीं आ रहा था, जिसके कारण बाथरूम गंदा ही रह गया। इसको लेकर हॉस्टल प्रशासन ने हंगामा शुरू कर दिया और बारी-बारी से सभी छात्राओं के कपड़े उतरवाकर मामले की जांच करवाई गई।

परिजनों ने हॉस्टल प्रबंधन पर लगाया अभद्रता का आरोप

छात्रा के परिजनों ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी और भांजी का एडमिशन इस निजी हॉस्टल (Admission In Private Hostel) में कराया था। हॉस्टल में छोड़ने के बाद 19 सितंबर को भांजी का फोन आया और उसने बीमार होने की बात कही। जिसके बाद यहां पहुंचने पर इस घटना की जानकारी हुई और जब इस संबंध में हॉस्टल प्रबंधक से बात की गई तो वे अभद्रता करने लगे।

पीड़ित छात्रा के परिजनों का कहना है जब वे अपनी बच्ची को लेने हॉस्टल गए थे तो उस वक्त कई अन्य परिजन भी इसी मामले को लेकर अपनी बच्चियों को लेने पहुंचे थे।

विरोधियों के साथ मिलकर लगाए जा रहे ऐसे आरोप

वहीं हॉस्टल प्रबंधन (Hostel Management) ने अपने ऊपर लगे आरोपों को लेकर सफाई दी है कि सभी आरोप निराधार हैं। हॉस्टल प्रबंधन का कहना है कि इस मामले में विरोधियों के साथ मिलकर हॉस्टल को बदनाम करने के लिए झूठे और घिनौने आरोप लगाए जा रहे हैं।

मामले की जांच के बाद होगी कार्रवाई

छात्रा की शिकायत के बाद पुलिस विभाग के एसएसपी प्रभाकर चौधरी (SSP Prabhakar Choudhary) ने कहा कि इस संबंध में जांच के लिए पुलिस विभाग (Police Department) के अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं और मामले की जांच (Investigation) शुरू हो गई है। जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it