Top
राष्ट्रीय

किसान आंदोलन का आज 25वां दिन, रकाबगंज पहुंचे मोदी तो रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप ने लिखा - बंदे मर रहे हैं और आप फोटोशूट...

Janjwar Desk
20 Dec 2020 6:04 AM GMT
किसान आंदोलन का आज 25वां दिन, रकाबगंज पहुंचे मोदी तो रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप ने लिखा - बंदे मर रहे हैं और आप फोटोशूट...
x

गुरुद्वारा रकाबगंज के परिसर में लोगों के पीएम नरेंद्र मोदी।

किसान आंदोलन का आज 25वां दिन है। किसान आज के दिन को शहादत दिवस के रूप में मना रहे हैं। वहीं, प्रधानमंत्री मोदी आज गुरुद्वारा रकाबगंज गए और मत्था टेका...

जनज्वार। किसान आंदोलन रविवार को 25वें दिन में प्रवेश कर गया और आज भी दिल्ली से लगी विभिन्न राज्यों की सीमाओं पर किसान अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे हैं। किसान आज 25वें दिन आंदोलन में मरे किसानों का शहादत दिवस मनाएंगे। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को सुबह अचानक दिल्ली स्थित गुरुद्वारा रकाबगज दर्शन व मत्था ठेकने पहुंचे।

प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुद्वारे में अपनी उपस्थिति व प्रार्थना से जुडी कई तसवीर भी अपने ट्विटर एकाउंट पर पोस्ट की। इस पर भाजपा व मोदी सरकार के खिलाफ हमेशा मोर्चा खोले रखने वाले रिटायर्ड आइएएस अफसर सूर्य प्रताप सिंह ने ट्विटर पर मोदी का एक फोटो पोस्ट करते हुए लिखा : गुरु के बंदे सड़क पर मर रहे और आप गुरुद्वारे में फोटोशूट पर।

मोदी जब रकाबगंज पहुंचे तो कई लोगों ने उनके साथ सेल्फी भी ली। प्रधानमंत्री मोदी ने रकाबगंज में अपनी मौजूदगी का कई फोटो पोस्ट करते हुए लिखा - गुरुद्वारा रकाबगंज से कुछ और झलकियां।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिख गुरु गुरु तेगबाहदुर को उनके सर्वाेच्च बलिदान के लिए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने लिखा कि आज सुबह मैंने ऐतिहासिक गुरुद्वारा रकाबगंज में प्रार्थना की, जहां गुरु तेग बहादुर जी का अंतिम संस्कार किया गया। उन्होंने लिखा कि स्वयं को धन्य महसूस कर रहा हूं, दुनिया भर के लाखों लोगों की तरह श्री गुरु तेग बहादुर जी की दया से बहुत प्रेरित हूं। प्रधानमंत्री ने लिखा कि यह गुरु साहब की विशेष कृपा है कि हम अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान श्री गुरु तेग बहादुर जी का 400वां प्रकाश पर्व मनाएंगे।

ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है #FarmerDyingModiEnjoying

#FarmerDyingModiEnjoying ट्विटर पर शनिवार शाम से ही ट्रेंड कर रहा है। सूर्य प्रताप सिंह ने भी इस हैशटैग पर ट्वीट किया है। लोग इस हैशटैग का प्रयोग कर किसानों के प्रति सरकार को असंवेदशील बता रहे हैं।

किसान आज मना रहे हैं शहादत दिवस

कृषि कानूनों के खिलाफ रविवार को भी किसान प्रदर्शन कारी दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बाॅर्ड, दिल्ली-यूपी बाॅर्डर व अन्य स्थलों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे आज आंदोलन के दौरान मरे किसानों का शहादत दिवस मना रहे हैं। दिल्ली-यूपी बाॅर्डर पर डटे एक किसान प्रदर्शनकारी ने कहा कि सरकार कृषि कानून को खत्म कर दे, हम दो घंटे में यहां से चले जाएंगे।

भारतीय किसान यूनियन के नेता मांगे राम त्यागी ने रविवार को कहा कि हम आज शहीदी दिवस मना रहे हैं और इसके माध्यम से उन साथियों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं जिन्होंने अपना जीवन इस आंदोलन में समर्पित किया।

वहीं, एनसीपी नेता व महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने कहा है कि किसान आंदोलन के आज 25 दिन हो गए हैं, किसी भी प्रकार से सरकार कोई रास्ता नहीं निकाल रही है। जिनके लिए कानून बनाए गए हैं अगर वे ही मानने को तैयार नहीं हैं, तो सरकार कानून वापस ले। उन्होंने कहा कि अहम बनाकर लोगों इसे थोपे रहना और आंदोलन बढाने का रवैया लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है।


Next Story

विविध

Share it