झारखंड

धनबाद के चाउमिन विक्रेता पर 16 करोड़ जीएसटी बकाया, पूरा मामला जान हैरान रह जाएंगे आप

Janjwar Desk
1 Sep 2020 6:03 AM GMT
धनबाद के चाउमिन विक्रेता पर 16 करोड़ जीएसटी बकाया, पूरा मामला जान हैरान रह जाएंगे आप
x
हर महीने 10 हजार रुपये कमीशन पाने के लोभ में चाउमिन विक्रेता जालसाजों के चक्कर में पड़ गया, उसके कागजात का उपयोग शेल कंपनी में किया गया और जांच के दौरान वह फंस गया...

जनज्वार। झारखंड के धनबाद (Dhanbad) में सड़क किनारे ठेले पर चाउमिन बेच कर अपना गुजारा करने वाले एक शख्स पर 16 करोड़ रुपये जीएसटी (GST) बकाया रखने का आरोप लगा है। विक्की बनर्जी नाम का शख्स हीरापुर के हटिया में चाउमिन का ठेला लगाता है लेकिन जब शनिवार को वाणिज्य कर राजस्व पदाधिकारी अफसाना खानम ने उसके खिलाफ धनसार थाने में जीएसटी चोरी की प्राथमिकी दर्ज करायी तो सब हैरत में पड़ गए कि आखिर ठेले पर चाउमिन बेचने वाला व्यक्ति कैसे 16 करोड़ की जीएसटी चोरी कर सकता है।

वाणिज्य कर पदाधिकारी अफसाना खानम के अनुसार, श्री नारायणी ट्रेडर्स ने 15 करोड़, 90 लाख 22 हजार 138 रुपये का कोयला कारोबार किया, पर उसने न जीएसटी का ब्यौरा दाखिल किया और न ही सरकार को टैक्स चुकाया।

इस मामले में दुहाटांड़ निवासी विक्की बनर्जी की भूमिका पायी गई, लेकिन जब अधिकारियों ने दुहाटाड़ के पते पर जाकर जांच की तो वहां कोई कंपनी मिली नहीं। इसी क्रम में पूछताछ में विक्की ने बताया कि वह बेकसूर है और चाउमिन बेचकर अपना व परिवार का गुजारा करता है।

दरअसल, विक्की इस पूरे मामले में कुछ जालसाजों के चक्कर में पड़ गया था। नावाडीह के रहने वाले सत्यनारायण सिन्हा नामक शख्स ने धोखे से उसके कागजात ले लिए थे और उसे कहा कि तुम्हें एक कंपनी में इस कागजात के आधार पर जोड़ेंगे और हर महीने 10 हजार रुपये कमीशन मिलेगा।

पैसे के लोभ में विक्की ने अपना कागजात दे दिया। उससे उसका आधार कार्ड, पेन कार्ड आदि की काॅपी ले लिया और हर महीने 10 हजार रुपये देने लगा। इस दौरान व कभी-कभी उससे सादे चेक पर हस्ताक्षर करवाता था।

वास्तव में विक्की फर्जी (शेल) कंपनी से जुड़ चुका था, जिसमें उसके कागजात का उपयोग किया गया था और उसी के लिए उससे चेक पर हस्ताक्षर करवाया जाता था। धनबाद में शेल कंपनियों के जरिए टैक्स चोरी के कई मामले सामने आ चुके हैं।

Next Story

विविध