Top
झारखंड

PM मोदी के नाम पर फैली अफवाह सुनकर महिला ने रखा 'कोरोना माई' का व्रत, हो गई मौत

Janjwar Desk
9 Jun 2020 1:53 PM GMT
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जुड़े अंधविश्वास ने पलामू के पांडू में एक महिला का जान ले ली. रविवार को पांडू के सिलदिली के टोला सिकनी में 20-25 महिलाओं ने ‘कोरोना माई’ का उपवास रखा था. वशिष्ठ पासवान की पत्नी वैजयंती देवी(40) भी इनमें शामिल थी...

जनज्वार। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जुड़े अंधविश्वास ने पलामू के पांडू में एक महिला का जान ले ली. रविवार को पांडू के सिलदिली के टोला सिकनी में 20-25 महिलाओं ने 'कोरोना माई' का उपवास रखा था. वशिष्ठ पासवान की पत्नी वैजयंती देवी(40) भी इनमें शामिल थी.



शाम में अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गयी. ब्लड प्रेशर लो होने के साथ उसमें लकवा के भी लक्षण दिखने लगे. पेट में दर्द भी था. रात नौ बजे स्थिति गंभीर होने पर परिजन उसे इलाज के लिए मेदिनीनगर ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी.

लोगों ने बताया कि इस गांव में महिलाओं के बीच अफवाह फैली थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए 'कोरोना माई' की पूजा करना जरूरी है. जो महिलाएं व्रत करेंगी, उनके खाते में पैसे भी भेजे जायेंगे.



इसी को लेकर सिकनी गांव में 20 से 25 महिलाओं ने उपवास रखा था. उपवास रहने से वैजयंती देवी की तबीयत बिगड़ी और मौत हो गयी. वह मूल रूप से रतनाग की रहनेवाली थी. परिवार के साथ वह सिकनी में रहती थी.

पांडू थाना प्रभारी समीर तिर्की ने बताया कि प्रथम दृष्टया लगता है महिला की मौत बीमारी से हुई है. रविवार को उसने उपवास रखा था. सुनने में आ रहा है कि उसने कोरोना माई के लिए व्रत रखा था. उपवास के कारण उसकी तबीयत बिगड़ी और अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में मौत हो गयी. थानाप्रभारी ने लोगों से आग्रह किया कि इस वैश्विक महामारी से बचाव के लिए किसी तरह के अंधविश्वास न पड़ें. इससे बचने के लिए मास्क का उपयोग करें एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें.

Next Story

विविध

Share it