राष्ट्रीय

कानपुर : कुरेले ग्रुप के SNK सहित 19 ठिकानों पर IT की रेड, 100 करोड़ की हेराफेरी का शक

Janjwar Desk
29 July 2021 4:05 AM GMT
कानपुर : कुरेले ग्रुप के SNK सहित 19 ठिकानों पर IT की रेड, 100 करोड़ की हेराफेरी का शक
x

(कानपुर में कुरेले ग्रुप के SNK गुटखा सहित 19 ठिकानो पर आईटी की बड़ी रेड)

400 करोड़ के कारोबार वाली कंपनी का पान मसाला सहित रियल स्टेट व अन्य कारोबार भी हैं, इसके अलावा बोगस कंपनियां बनाकर 100 करोड़ के लोन की हेराफेरी की बात भी सामने आ रही है....

जनज्वार, कानपुर। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कानपुर में बड़ी कार्रवाई करते हुए एसएनके (SNK) गुटका समूह के 19 ठिकानो पर एक साथ छापेमारी की है। यह छापेमारी नोएडा, दिल्ली, उरई समेत कानपुर के आवास व गोदाम को मिलाकर सभी जगहों पर एक साथ चली। कार्रवाई में लगभग 120 अधिकारी व कर्मचारियों सहित पुलिस के 80 जवान शामिल थे।

जांच में सामने आया है कि, 400 करोड़ के कारोबार वाली कंपनी का पान मसाला सहित रियल स्टेट व अन्य कारोबार भी हैं। इसके अलावा बोगस कंपनियां बनाकर 100 करोड़ के लोन की हेराफेरी की बात भी सामने आ रही है। टीम ने बड़े पैमाने पर कर चोरी के दस्तावेज जब्त किए हैं। इन बोगस कंपनियों में से एक एजे सुगंधि (AJ Sugandhi) भी है।

चीफ डायरेक्टर आईटी द्वारा जांच के निर्देश पर बुधवार 28 जुलाई की सात बजे कंपनी के संचालक नवीन कुरेले और प्रवीण कुरेले के स्वरूपनगर स्थित आवास, काकादेव, किदवई नगर, पांडु नगर, एक्सप्रेस वे, कलक्टरगंज स्थित ऑफिस, पनकी की तीन पैक्ट्रियों, उरई की एक फैक्ट्री, नोएडा की दो जगहों तथा दिल्ली में सात जगहों पर एक साथ छापेमारी की गई।

आईटी की एक साथ इतनी बड़ी छापेमारी से पूरे समूह में हाहाकार मच गया। समूह के मुताबिक कंपनी पान मसाला के अलावा रियल स्टेट डेवलपर के तौर पर भी काम करती है। इसका दिल्ली और नोएडा में भी बड़ा कारोबार है। नवीन कुरेले (Naveen Kurele) का एक भाई दिल्ली में रहकर रियल स्टेट कारोबार संभालता है। सूत्रों की माने तो कंपनी ने बहुत कम समय में ही बड़ी तरक्की की है।

कुरेले ग्रुप (Kurele Group) ने बोगस कंपनियों के सहारे सबसे बड़ा लेनेदेन किया है। जिसमें चार बोगस कंपनियां अपने कर्मचारियों के नाम पर बनाने की बात भी सामने आई है। जिनमें रूये ट्रांसफर कर काली कमाई को एक नंबर का बनाया गया है। बोगस कंपनियों के नाम पर लोन लिया गया और उन्हें दूसरी जगहों पर खपाया गया। ऐसे तमाम दस्तावेज जांच टीम के हाथ लगे हैं।

इन सभी में बड़े पैमाने पर कर चोरी की आशंका सामने आई है। हालांकि अभी पूरा खुलासा नहीं किया गया है। जांच टीम के एक सदस्य ने नाम ना छापने की शर्त पर जनज्वार को बताया कि, कंपनी पर कई दिनो से निगरानी की जा रही थी। हम सभी ने पहले पूरी पड़ताल की उसके बाद छापेमारी की है। कंपनी के दिल्ली में होटल सहित कई शहरों में रियल स्टेट का कारोबार चल रहा था, जिनमें एक साथ रेड डाली गई है।

Next Story

विविध

Share it