राष्ट्रीय

Deepak Chaurasia: दारू पीकर एंकरिंग मामले में दीपक चौरसिया ने दी सफाई तो लोगों ने ये दिए फनी रिएक्शंस...

Janjwar Desk
13 Dec 2021 12:08 PM GMT
tv news
x

(शराब पीकर एंकरिंग मामले में दीपक चौरसिया फिर से हुए ट्रॉल)

आप इंडिया न्यूज में भी शराब पीने के कारण एंकर करने से पहले गिर पड़े थे फिर इंडिया न्यूज छोड़ना पड़ा, अब फिर से झूठ।' श्रवण नाम के यूजर ने लिखा है, दीमक चरसिया जी हमें आप पर पूरा यकीन है...पक्का पेग लगाकर आए थे... और भी पढ़ें...

Deepak Chaurasia : न्यूज नेशन पर दारू पीकर लाइव एंकरिंग करने और फिर वायरल होने के बाद महापत्रकार दीपक चौरसिया ने फेसबुक पोस्ट लिखकर अपनी सफाई दी है। दीपक ने तीन-तीन कारण गिनाकर सफाई दी है। चौरसिया की इस सफाई वाली पोस्ट पर लोगों ने उन्हें पत्रकारिता के नाम पर काला धब्बा, काला कौआ सहित तमाम शब्दों से नवाजा है। पढ़िए दीपक की सफाई पर लोगों की क्या प्रतिक्रिया रही।

दारू पीकर लाइव एंकरिंग करने के बाद न्यूज नेशन के सलाहकार संपादक दीपक चौरसिया ने लिखा है कि, ' पिछले तीन दिन से आपलोगों ने जो मेरी चिंता की उसके लिए मैं आप सबका आभारी हूँ। लेकिन अब मुझे लगता है कि मुझे कुछ बातें साफ कर देनी चाहिए।'

1. आप सभी को वीडियो देखकर जो लग रहा है वो पूरा सच नहीं है। सच ये है कि मेरे घर में शादी थी और बारात में ज्यादा डांस करने के कारण मेरे घुटने की पुरानी चोट दर्द देने लगी। शो चुकी जिस मसले पर था उसे मैं छोड़ना नहीं चाहता था और शो पूरी तरह से ठीक जाए इसलिए मैंने पेन किलर खा ली। आपको बता दूँ मेरे घुटने में हेयरलाइन फ़्रैक्चर है।

2. मेरी गलती ये थी कि पेन किलर ज्यादा मात्रा में लेने से साइड इफेक्ट होता है, ये बात मुझे नहीं पता थी। इसलिए पेनकिलर खाकर मेरी तकलीफ कम होने की बजाए बढ़ गई।

3. वीडियो देखकर तरह तरह की बातें बनाई गई, जो सच नहीं है। मुझे पत्रकारिता में 25 साल से ज्यादा हो चुके हैं। इसलिए मुझे किसी से पत्रकारिता के इथिक्स सीखने की जरूरत नहीं है।

मैं अपने चाहने वालों से दिल से माफी चाहता हूँ। साथ ही पिछले तीन दिनों से देश के कोने-कोने से मेरी चिंता जताने वाले शुभचिंतको का आभारी हूं। आपलोगों का प्यार और सहयोग इसी तरह आगे भी मिलता रहेगा। इसी उम्मीद के साथ...दीपक चौरसिया के इस सफाइनामें पर लोगों ने गजब-गजब के रिप्लाई दिए हैं। जिनमें कुछ को नीचे दिया गया है पढिए...

दीपक के इस सफाइनामें पर मयंक राज ने लिखते हैं, 'पत्रकारिता के नाम पर काला धब्बा हो तुम इससे ज्यादा कुछ नहीं, हम जैसे पत्रकार शर्मिंदगी उठाते हैं आप जैसों के कारण।' आलम फरीदी ने लिखा है, 'यह लिखना भूल गये, फ्रेक्चर व दर्द के कारण जीभ लड़खड़ा रही थी जिस कारण जनरल को जर्नलिस्ट, विपिन रावत को वीके सिंह बोल दिया। वैसे नीला वाला कैप्सूल भी दर्द ही ठीक करता है। मगर कुछ लोग उसे भी एंकरिंग के लिए खाते हैं।'

एचआर खान नामक यूजर ने लिखा है, 'प्लास्टर तो चढ़वा लिया है न पैर पर, क्या है न खुली चोट तकलीफ ज्यादा देती है, फिर से पैन किलर लेना पड़ सकता है।' स्वेता आर रश्मि ने लिखा है, 'कितना झूठ बोलेंगे आप भाई, इंडिया न्यूज में भी शराब पीने के कारण एंकर करने से पहले गिर पड़े थे फिर इंडिया न्यूज छोड़ना पड़ा, अब फिर से झूठ।' श्रवण नाम के यूजर ने लिखा है, दीमक चरसिया जी हमें आप पर पूरा यकीन है...पक्का पेग लगाकर आए थे।'

अमित मिश्रा लिखते हैं, 'इतनी लंबी चौड़ी पोस्ट लिखने की क्या जरूरत थी, दो शब्दों में बोल देते..माफ करना दोस्तों उस रात ज्यादा हो गयी थी, बाकी जो फैन हैं आपके वो तो रहेंगे ही।' मोहम्मद मुर्शीद ने लिखा, 'वो सब ठीक है..जनरल को जनरिलस्ट कौन बोलता है, दूसरी बात जब आप अस्वस्थ थे तो आपको ऑन एयर आने की क्या जरूरत थी।' संतोष चतुर्वेदी ने लिखा है, ' क्यों हूतिया बना रहे हो लोगों को, दारू के नशे और पैन किलर के साइड इफेक्ट्स में अंतर होता है।' और भी लोगों ने बहुत कुछ कहा है, जिसे दीपक चौरसिया के फेसबुक पोस्ट पर जाकर पढ़ा जा सकता है।

Next Story

विविध