Top
मध्य प्रदेश

मध्यप्रदेश में 13 वर्षीय लड़की को अगवा कर 9 दरिंदों ने 24 घंटे के भीतर तीन बार किया गैंगरेप, हालत नाजुक

Janjwar Desk
17 Jan 2021 7:33 AM GMT
मध्यप्रदेश में 13 वर्षीय लड़की को अगवा कर 9 दरिंदों ने 24 घंटे के भीतर तीन बार किया गैंगरेप, हालत नाजुक
x

[ प्रतीकात्मक तस्वीर ]

पुलिस ने एक ढाबा मालिक सहित नौ आरोपियों में से सात को गिरफ्तार किया है, दो अन्य आरोपियों की तलाश जारी है, गिरफ्तारी के बाद शनिवार को इस भयावह अपराध की खबरें सामने आईं.....

भोपाल। मध्यप्रदेश के उमरिया जिले से दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है जहां कम से कम नौ पुरुषों के द्वारा एक 13 वर्षीय नाबालिग से 24 घंटे के भीतर तीन बार गैंगरेप किया गया है। इस भयावह घटना के आघात से पीड़िता ठीक से बोल भी नहीं पा रही है।

'टाइम्स ऑफ इंडिया' की रिपोर्ट के मुताबिक पहले दो ट्रक ड्राइवरों के द्वारा उसका अपहरण किया गया और फिर गैंगरेप किया गया, इसके बाद उनके साथ के पांच अन्य लोगों ने उसके साथ रेप किया और फिर अगले दिन एक राजमार्ग पर उसे फेंकने से पहले दो और लोगों ने उसके साथ रेप किया।

पीड़िता के बयान के अनुसार इनमें से चार लोगों ने 4 जनवरी को उसके साथ रेप किया था लेकिन उसने डर के कारण बाहर किसी को नहीं बताया।

पुलिस ने एक ढाबा मालिक सहित नौ आरोपियों में से सात को गिरफ्तार किया है। दो अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। गिरफ्तारी के बाद शनिवार को इस भयावह अपराध की खबरें सामने आईं।

पीड़िता कक्षा नौवीं की छात्रा है। उसने अपनी शिकायत में कहा है कि 11 जनवरी की दोपहर वह घर से बाहर निकली थीं कि दो ट्रक चालकों ने उसका अपहरण कर लिया और फिर उसे एक जंगल में ले गए जहां उन्होंने उसके साथ रेप किया। फिर, उसे ट्रक में बंधक बनाकर वे एक ढाबे में ले गए, जहां ढाबे के मालिक और चार अन्य ट्रक चालक उनके साथ शामिल हो गए और फिर उसके साथ रेप किया।

शिकायत के मुताबिक उसे (पीड़िता) बंधक बनाकर रखा गया और रातभर उसके साथ बारी-बारी से रेप किया गया। इसके बाद वह लगभग बेहोश हो गई और सुबह उसे ट्रक में फेंक दिया गया और फिर सड़क पर ले जाया गया। पीड़िता ड्राइवरों से जाने देने के लिए विनती करती रहीं लेकिन उन्होंने रेप किया। फिर उसे बीच रास्ते में फेंक दिया।

उमरिया के एसपी विकास कुमार शाहवाल ने टीओआई से कहा, 'लड़की को 12 जनवरी को शिकायत मिलने के बाद जल्द ही बरामद कर लिया गया था। वह सदमे और मानसिक आघात की स्थिति में थी और ठीक से बात नहीं कर पा रही थी।'

शाहवाल ने आगे बताया, पीड़िता ने पूछताछ में खुलासा किया कि इन आरोपियों में पांच आरोपी 4 जनवरी के दिन भी शामिल थे। डॉक्टर्स के मुताबिक उसे कोई बड़ी चोट नहीं लगी है लेकिन वह गहरे मानसिक आघात और सदमे में है। हमने उसे वन-स्टॉप संकट केंद्र में रखा है, जहां उसकी काउंसलिंग की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it