राष्ट्रीय

Sangli Suicide Case : एक ही परिवार के 9 सदस्यों ने इसलिए की खुदकुशी, सुसाइड नोट से हुआ बड़ा खुलासा

Janjwar Desk
23 Jun 2022 7:13 AM GMT
Sangli Suicide Case : एक ही परिवार के 9 सदस्यों ने इसलिए की खुदखुशी, सुसाइड नोट से हुआ बड़ा खुलासा
x

Sangli Suicide Case : एक ही परिवार के 9 सदस्यों ने इसलिए की खुदखुशी, सुसाइड नोट से हुआ बड़ा खुलासा

Sangli Suicide Case : महाराष्ट्र (Maharashta) के सांगली (Sangli) में एक ही परिवार के 9 लोगों ने जहर पीकर खुदकुशी कर ली, इन लोगों ने मौत को यूं ही गले नहीं लगा लिया, यह परिवार भारी कर्ज के बोझ तले दबा हुआ था और सूदखोरों की प्रताड़ना से परेशान हो गया था...

Sangli Suicide Case : महाराष्ट्र (Maharashta) के सांगली (Sangli Suicide Case) में एक ही परिवार के 9 लोगों ने जहर पीकर खुदकुशी (Sangli Suicide Case) कर ली। इस मामले ने हर किसी को हिला कर रख दिया है। हालांकि इन लोगों ने मौत को यूं ही गले नहीं लगा लिया। दरअसल यह परिवार भारी कर्ज के बोझ तले दबा हुआ था और सूदखोरों की प्रताड़ना से परेशान हो गया था। सूदखोरों ने इन्हें इतना परेशान किया कि उनके पास मौत को गले लगाने के अलावा कोई दूसरा रास्ता ही नहीं बचा था।

सुसाइड नोट में हुआ ये खुलासा

पुलिस ने मृतकों के घर से मिले सुसाइड नोट का हवाला देते हुए कहा है कि साहूकार बार बार सार्वजनिक रूप से इन लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहे थे। पुलिस ने इस मामले में परिवार को पैसे उधार देने वाले इलाके के 15 लोगों को गिरफ्तार किया है। अभी पुलिस 10 और संदिग्धों की तलाश कर रही है।

एक साथ 9 लोगों ने जहर खाकर की आत्महत्या

बता दें कि बीते सोमवार दोपहर को महाराष्ट्र के सांगली जिले म्हैसल गांव में दो भाइयों माणिक (49) और पोपट (52) के परिवार के 9 लोगों ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली थी। एक ही परिवार के 9 लोगों की मौत से पूरा गांव सन्न रह गया। पुलिस ने माणिक के घर से माणिक, उनकी पत्नी (45), उनके बच्चों अनीता (28) और आदित्य (15), मां अक्काताई (72) और पोपट के बेटे शुभम (28) के शव बरामद किए। माणिक के घर से करीब 1 किलोमीटर दूर स्थानीय स्कूल में कला शिक्षक पोपट, और उनकी पत्नी संगीता (48) बेटी अर्चना (30) के शव बरामद किए।

इसलिए लिया था परिवार ने कर्ज

वहीं पुलिस ने सुसाइड नोट का हवाला देते हुए कहा कि यह परिवार स्टील के उत्पादों की एक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाना चाहता था और इसके लिए उन्होंने कई लोगों से पैसे उधार लिए थे। ये सभी लोग उन्हें नियमित तौर पर परेशान कर रहे थे। पुलिस ने इस मामले में म्हैसल निवासी नंद कुमार पंवार (52), राजेंद्र बन्ने (50), अनिल बन्ने (35), खंडेराव शिंदे (37), डॉक्टर तात्यासाहेब चौगुले (51), अनिल बोराडे (48), शैलेश धूमल (56), प्रकाश पवार (45), संजय बगड़ी (51), पांडुरंग घोरपड़े (56), शिवजी कोरे (65), रेखा चौगुले (45), विजय सुतार (55), गणेश बामने (45), और सुभ्रा कांबले (46) को गिरफ्तार किया है।

Next Story

विविध